हथेली हो ऐसी हो तो मिलता है सुख, व्यापार में भी होते हैं सफल

4 /8 वर्गाकार हाथऐसे हाथों की उंगलियां लंबी और समकोण होती हैं। इनके नाखून छोटे और वर्गाकार होते हैं। इनकी हथेली लंबाई और चौड़ाई में बराबर होती है। सात्विक प्रकृति के लोगों और व्‍यापारियों का हाथ आम तौर पर ऐसा ही होता है। ऐसे लोगों को जीवन के हर क्षेत्र में सफलता मिलती है। ऐसे लोग परिश्रमी होने के कारण काफी धन संचय कर पाते हैं। ऐसे लोग व्‍यापारिक दृष्टि से ही बात का मूल्‍य आंकते हैं। ऐसे लोग कुछ मामलों में हठी स्‍वभाव के भी होते हैं, लेकिन इस प्रकार के हठ से इनका लाभ होता है।जून का महीना इन 3 राशियों के लिए है बेहद लकी, क्‍या आप भी हैं इनमें से एक?

June 05, 2020 13:07 UTC


Weather Update: यूपी, बिहार, मप्र में झमाझम बारिश, जानें- आपके क्षेत्र में कब

Weather Update: यूपी, बिहार, मप्र में झमाझम बारिश, जानें- आपके क्षेत्र में कबनई दिल्ली, एजेंसी। देश के अधिकांश राज्यों में इस समय तेज बारिश हो रही है। यूपी, बिहार, मध्य प्रदेश व दिल्ली के कई इलाकों में झमाझम बारिश हो रही है। इससे जहां मौसम सुहाना है, वहीं किसानों के चेहरे पर खुशी देखने को मिल रही है। बुवाई का मौसम शुरु होने वाला है। एेसे में किसानों के लिए यह बारिश काफी राहत देने वाली है। मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर-पश्चिमी भारत में अगले 24 घंटों में बारिश कम हो जाएगी और तापमान बढ़ने लगेगा, विशेषकर दिल्ली में 11 जून तक बारिश नहीं होगी।मौसम वैज्ञानिक राजेंद्र कुमार जेनामनी ने बताया कि 12 जून से उत्तर-पश्चिमी भारत में फिर से तेज़ हवाओं के कारण फिर से बारिश शुरू होने की संभावना है।मौसम विभाग का कहना है कि पूर्व-मध्य अरब सागर में एक लो प्रेसर सिस्टम बन रहा है जिसके कारण मुंबई और केरल में 8 जून या 9 जून से तेज बारिश की संभावना है।दिल्ली में हो रही बारिशआज राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कुछ हिस्सों में बारिश हो रही है। आनंद बिहार, निजामुद्दीन, सराय काले खान क्षेत्र में हवा के साथ तेज बारिश हो रही है।बिहार में झमाझम बारिशबिहार में आज कई इलाकों में तेज बारिश हो रही है। राजधानी पटना में हुई बारिश से सड़कों पर जलभराव हो गया है। लोगों को आने-जाने में परेशानी हो रही है।मध्यप्रदेश में 2 दिन से हो रही बारिशमध्य प्रदेश में 2 दिन से लगातार बारिश हो रही है। निसर्ग तूफान के असर से प्रदेश के अधिकांश हिस्से तरबतर हो गए हैं। इस दौरान कुछ स्थानों पर भारी बरसात हो रही है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक निसर्ग वर्तमान में अवदाब का क्षेत्र बन चुका है। यह मप्र के पूर्वी क्षेत्र की तरफ बढ़ रहा है। इसके प्रभाव से रीवा, शहडोल, सागर और जबलपुर संभाग के जिलों में अच्छी बरसात हो रही हैं।#WATCH Madhya Pradesh: Rain lashes parts of Bhopal. India Meteorological Department (IMD) has predicted rainfall or thunderstorm for the city today. pic.twitter.com/851RJGxYzN— ANI (@ANI) June 5, 2020यूपी में कहीं रिमझिम तो कहीं झमाझम बारिशउत्तर प्रदेश का मौसम आज सुहावना बना हुआ है। रिमझिम फुहारों के बीच लोगों का दिन खुशनुमा बीता। बीती रात से कई जिलों में बूंदाबांदी और फिर दिन में रिमझिम से तापमान काफी नीचे आ गया। पूर्वी उत्तर प्रदेश में कुछ जगह अच्छी बारिश हो रही है। वहीं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में तेज हवा के साथ रिमक्षिम फुहारें पड़ रही है। बादलों की आवाजाही लगी है। अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस के आसपास है।Posted By: Sanjeev Tiwariडाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

June 05, 2020 12:53 UTC


चीन और भारत के विदेश मंत्रालय के अफसरों में चर्चा हुई, कल सुबह चीन की सीमा में मिलेंगे दोनों देशों के सैन्य अधिकारी - Dainik Bhaskar

भारत की ओर से 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह बैठक में शामिल होंगेचीन विदेश मंत्रालय ने कहा- सीमा से जुड़े मुद्दे को पूरी तरह से सुलझाने के हम प्रतिबद्ध हैंदैनिक भास्कर Jun 05, 2020, 10:02 PM ISTनई दिल्ली/बीजिंग. पूर्वी लद्दाख में सेनाओं के बीच तनाव को लेकर भारत और चीन के विदेश मंत्रालयों के अफसरों में शुक्रवार शाम बातचीत हुई। दोनों ही देशों ने मौजूदा हालात की समीक्षा की। न्यूज एजेंसी को सूत्रों ने बताया कि दोनों ही देशों का मामला है कि मतभेदों को शांतिपूर्ण बातचीत के जरिए ही हल करना चाहिए।दोनों देशों के मिलिट्री कमांडरों में शनिवार सुबह बातचीत होगी। न्यूज एजेंसी एएनआई को सूत्रों ने बताया कि यह बातचीत चीन के मोल्डो में होगी। इस दौरान 14 कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह चीन के मेजर जनरल लियू लिन से बातचीत करेंगे। लियू लिन साउथ झिंनझियांग मिलिट्री रीजन के कमांडर हैं।मिलिट्री और डिप्लोमैटिक चैनल के जरिए बातचीत जारीइस बीच चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने शुक्रवार को कहा कि अभी सीमा पर भारत और चीन के बीच हालात स्थिर और नियंत्रण करने लायक हैं। हमारे पास सीमा से जुड़े मुद्दों के लिए पूरा मैकेनिज्म है और मिलिट्री और डिप्लोमैटिक चैनल के जरिए भी बातचीत जारी रखते हैं। हम इस मामले को अच्छी तरह से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।तनाव कम करने के लिए भारत के पास विस्तृत प्रस्तावसूत्रों के मुताबिक, भारत चीन के सामने पेंगॉन्ग सो, गलवान घाटी और डेमचोक में दोनों सेनाओं के बीच तनाव को कम करने के लिए खास प्रस्ताव पेश करेगा। पिछले एक महीने से इन्हीं इलाकों में दोनों देशों की सेनाओं के बीच टकराव सामने आ रहा है। माना जा रहा है कि भारत इस इलाके में यथा स्थिति बनाए रखने की बात चीन से कहेगा।हालिया तनाव को लेकर अब तक दोनों देशों के बीच अब तक 10 बार बातचीत हो चुकी है। यह बातचीत लोकल कमांडर स्तर पर और मेजर जनरल रैंक के अफसरों तक के बीच में हुई है। हालांकि, अभी तक इन चर्चाओं का कोई सकारात्मक नतीजा नहीं निकला है।मई में दोनों सेनाओं के बीच तीन बार झड़प हुईभारत और चीन के सैनिकों के बीच इस महीने तीन बार झड़प हो चुकी है। इन घटनाओं पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि भारतीय सैनिक अपनी सीमा में ही गतिविधियों को अंजाम देते हैं। भारतीय सेना की लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के पार एक्टिविटीज की बातें सही नहीं हैं। वास्तविकता में यह चीन की हरकतें हैं, जिनकी वजह से हमारी रेगुलर पेट्रोलिंग में रुकावट आती है।इस महीने झड़पें कहां, कब और कैसे हुई? 1) तारीख- 5 मई, जगह- पूर्वी लद्दाख की पैंगोंग झीलउस दिन शाम के वक्त इस झील के उत्तरी किनारे पर फिंगर-5 इलाके में भारत-चीन के करीब 200 सैनिक आमने-सामने हो गए। भारत ने चीन के सैनिकों की मौजूदगी पर ऐतराज जताया। पूरी रात टकराव के हालात बने रहे। अगले दिन तड़के दोनों तरफ के सैनिकों के बीच झड़प हो गई। बाद में दोनों तरफ के आला अफसरों के बीच बातचीत के बाद मामला शांत हुआ।2) तारीख- संभवत: 9 मई, जगह- उत्तरी सिक्किम में 16 हजार फीट की ऊंचाई पर मौजूद नाकू ला सेक्टरयहां भारत-चीन के 150 सैनिक आमने-सामने हो गए थे। आधिकारिक तौर पर इसकी तारीख सामने नहीं आई। हालांकि, द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, यहां झड़प 9 मई को ही हुई। गश्त के दौरान आमने-सामने हुए सैनिकों ने एक-दूसरे पर मुक्कों से वार किए। इस झड़प में 10 सैनिक घायल हुए। यहां भी बाद में अफसरों ने दखल दिया। फिर झड़प रुकी।3) तारीख- संभवत: 9 मई, जगह- लद्दाखजिस दिन उत्तरी सिक्किम में भारत-चीन के सैनिकों में झड़प हो रही थी, उसी दिन चीन ने लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर अपने हेलिकॉप्टर भेजे थे। चीन के हेलिकॉप्टरों ने सीमा तो पार नहीं की, लेकिन जवाब में भारत ने लेह एयरबेस से अपने सुखोई 30 एमकेआई फाइटर प्लेन का बेड़ा और बाकी लड़ाकू विमान रवाना कर दिए। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो हाल के बरसों में ऐसा पहली बार हुआ जब चीन की ऐसी हरकत के जवाब में भारत ने अपने लड़ाकू विमान सीमा के पास भेजे।

June 05, 2020 12:48 UTC


योजना / एचडीएफसी लिमिटेड जुटाएगी एक अरब डॉलर का फंड, कोविड-19 के बाद बढ़ने वाली उधार की मांग के लिए तैयारी

कंपनी मर्चेंट बैंकर्स से फंड जुटाने के बारे में बात कर रही हैमार्च तिमाही में एचडीएफसी के लोन में 10.9 प्रतिशत की वृद्धि थीदैनिक भास्कर Jun 05, 2020, 06:24 PM ISTमुंबई. देश की सबसे बड़ी एनबीएफसी एचडीएफसी लिमिटेड आंशिक शेयर की बिक्री कर एक अरब डॉलर जुटाने की तैयारी कर रही है। कोविड-19 के बाद जब पूरी तरह से अर्थव्यवस्था खुलेगी, उस समय कर्ज की संभावित मांग को पूरा करने के लिए कंपनी अभी से तैयारी कर रही है।एचडीएफसी बैंक में कंपनी की 19.14 प्रतिशत हिस्सेदारी हैएचडीएफसी बैंक में एचडीएफसी लिमिटेड की 19.14 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इस बारे में कंपनी बैंकर्स के साथ बातचीत कर रही है। कई इनवेस्टमेंट बैंकर्स से एचडीएफसी ने संपर्क किया है और इस मैंडेड के बारे में कुछ समय में निर्णय लिया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक संस्थागत शेयर बिक्री के लिए बैंकर्स ने प्रजेंटेशन दिया है। हालांकि यह इश्यू कब लाया जाएगा, इस बारे में अभी निर्णय बाद में लिया जाएगा।कंपनी की कैपिटल पोजीशन काफी मजबूत हैएचडीएफसी के एक अधिकारी ने कहा कि हमारे यहां विभिन्न बैंकर्स इस तरह का प्रजेंटेशन हमेशा करते हैं। हमारी बैलेंसशीट और कैपिटल पोजीशन भारतीय वित्तीय सिस्टम में काफी मजबूत है। साथ ही हम अनलिस्टेड निवेश पर भारी लाभ कमाते हैं। यह इश्यू हालांकि एक या कई चरण में हो सकता है। कारण कि स्थानीय प्राइवेट सेक्टर के कर्जदाताओं को लेकर विदेशों में और स्थानीय निवेशकों में सेंटीमेंट बुलिश है।कोटक महिंद्रा बैंक ने जुटाया था दो अरब डॉलर का फंडबता दें कि कोटक महिंद्रा बैंक ने एक हफ्ते पहले ही दो अरब डॉलर का फंड जुटाया था। इसमें सिंगापुर की जीआईसी, कनाडा पेंशन, प्लान इनवेस्टमेंट बोर्ड, ओपनहेमर, एसबीआई म्यूचुअल फंड, आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड और बिरला म्यूचुअल फंड का समावेश था। इसके अलावा कुछ विदेशी फंड ने भी इसमें दिलचस्पी लिया था।एचडीएफसी का शेयर 20 दिन में 17 प्रतिशत बढ़ा हैएचडीएफसी लिमिटेड में फॉरेन पोर्टफोलियो निवेशकों का 70.9 प्रतिशत हिस्सा है। स्थानीय निवेशकों की हिस्सेदारी 17.8 प्रतिशत है। 18 मई के बाद एचडीएफसी के शेयरों में 17 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। जबकि इसी अवधि में सेंसेक्स 13 प्रतिशत बढ़ा है। अमेरिकी एक्सचेंज पर एचडीएफसी एडीआर का भाव 26 प्रतिशत बढ़कर कारोबार कर रहा है। इस होम फाइनेंसर कंपनी को तुरंत पैसे की जरूरत नहीं है, लेकिन कोविड-19 के बाद जब कर्ज की मांग आएगी, उसके लिए कंपनी फंड तैयार रखना चाहती है।कंपनी का एनपीए 1.99 प्रतिशत हैएचडीएफसी लिमिटेड की पूंजी पर्याप्तता अनुपात (सीएआर) 17.7 प्रतिशत है जबकि वित्त वर्ष 1019 में 17.9 था। हालांकि इस समय की स्थिति के अनुसार कंपनियां अपने आपको मजबूत बनाए रखना चाहती हैं। एचडीएफसी का ग्रॉस एनपीए तिमाही में 63 बीपीएस बढ़कर 1.99 प्रतिशत हो गया है। आईसीआईसीआई डायरेक्ट की एक रिपोर्ट के अनुसार गैर इंडिविजुअल पोर्टफोलियो में एनपीए 1.80 प्रतिशत से बढ़कर 4.71 प्रतिशत हो गया है। मार्च तिमाही में एचडीएफसी के लोन में सालाना आधार पर 10.9 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई थी।

June 05, 2020 12:45 UTC


Tags
Finance      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care       Online test prep Corona       Crypto      Vpn     
  

Loading...