कोरोना वायरस ने किया गांवों में रुख, लोगों को बना रहा शिकार

- ग्रामीणों में जागरूकता का अभाव पड़ रहा जीवन पर भारी - प्रदेश के कई गांवों में अचानक से- ग्रामीणों में जागरूकता का अभाव पड़ रहा जीवन पर भारी- प्रदेश के कई गांवों में अचानक से बढ़ा मौतों का आंकड़ा- ग्रामीणों में दहशत का माहौल, सरकार भी हरकत में आई- कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सैलजा और नेता प्रतिपक्ष हुड्डा ने उठाई ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं बढ़ाने की मांगओपी वशिष्ठ, रोहतक :कोविड-19 यानि कोरोना वायरस अब शहर से ग्रामीण क्षेत्रों में रुख करने लगा है। प्रदेश के कई ऐसे गांव हैं, जहां इसका प्रकोप ज्यादा दिखाई देने लगा है। रोहतक, फतेहाबाद, जींद, पानीपत, हिसार व फरीदाबाद सहित कई जिलों के गांवों में बुखार से मौतें होने की सूचनाएं आ रही हैं। रोहतक के गांव टिटौली में एक सप्ताह में 30 मौत होने के बाद शासन-प्रशासन हरकत में आया है। प्रदेश के गांवों में खांसी-बुखार के लक्षण वाले काफी लोगों के बीमार होने की जानकारी भी लगातार मिल रही है। स्वास्थ्य विभाग के लिए चिता की बात यह है कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना महामारी को लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कोरोना के सैंपल लेने के लिए ग्रामीण आगे नहीं आ रहें, जो उनके लिए घातक साबित हो रहा है।रोहतक के टिटौली में सात दिन में 30 मौतरोहतक के गांव टिटौली में एक सप्ताह में 30 लोगों की मौत से प्रदेश में हड़कंप मच गया। ग्रामीण खौफजदा हैं और अब उनको कोरोना संक्रमण की भयावता भी दिखने लगी है। टिटौली के अलावा बलियाना, घिलौड़, बहलबा, सांघी व अन्य कई गांवों में भी बीमारी से मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। प्रशासन ने गांव में कोरोना की जांच करवाई तो करीब 25 फीसद ग्रामीण संक्रमित पाए गए हैं।फरीदाबाद के तिगांव में छह दिन में 15 मौतजिला के सबसे बड़े गांव तिगांव में बीते छह दिन में 15 मौत होने से ग्रामीण सकते में हैं। कुछ मौत कोरोना संक्रमण की वजह से तो बाकी सामान्य बताई जा रही हैं। लेकिन इससे पहले इतने कम अंतराल में सामान्य रूप से इतनी मौत कभी नहीं हुई हैं। अधाना पट्टी में ही बीते पांच से छह दिन में सात मौत हुई हैं, जबकि तिगांव ग्राम पंचायत के तहत आने वाले क्षेत्र में आठ लोगों की मौत हो चुकी है। इनमे अधिकतर बुजुर्ग तो कई 50 साल के आसपास थे। दो-चार दिन के अंतराल में गांव में किसी न किसी की मौत के बारे में सूचना आ रही है।ग्रामीणों में जागरूकता का अभाव, भ्रम भी बनाकोरोना संक्रमण जिस तेजी से गांवों में फैल रहा है। इस संदर्भ में स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि ग्रामीण क्षेत्रों में लोग कोरोना का टेस्ट करवाने में आगे नहीं आ रहे हैं। इसको लेकर ग्रामीणों के अपने-अपने तर्क हैं। ग्रामीणों को डर है कि कोरोना टेस्ट में रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो उनको घर में कैद कर दिया जाएगा। अगर मौत हो गई तो शव को भी अंतिम संस्कार के लिए नहीं दिया जाएगा। यही कारण है कि लोग टेस्ट देने के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। इसके अलावा शारीरिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा। सामूहिक रूप से ताश खेलना और हुक्का पीना भी संक्रमण फैलने का एक कारण हो सकता है। मास्क का इस्तेमाल भी बहुत कम ग्रामीण करते हैं।दैनिक जागरण की खबर से हुई हलचलदैनिक जागरण ने गांव टिटौली में हो रही मौतों के मामले को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इसके बाद ही जिला प्रशासन हरकत में आया। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने भी दैनिक जागरण की खबर को ट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल से ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं बढ़ाने की मांग की है। उनके अलावा नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी टिटौली गांव के अलाव प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने की मांग सरकार से की है। राज्यसभा सदस्य दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के फैलाव को लेकर चिता जाहिर करते हुए सरकार से सुविधाएं उपलब्ध कराने का मुद्दा उठाया है।शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

May 06, 2021 03:05 UTC


इस संजीदगी से होगी जीत, लेकिन यह क्या जरा इन्हें भी कोई समझाए..

जासं, रांची : कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने किसी आक्रांता की तरह आम जनजीवन को तहस-नहस कर दिया है। हालांकि देर से ही सही, लोग चेत रहे हैं। अब वे जान रहे हैं कि सावधानी ही अपनी और अपनों की जिंदगी बचाने, परेशानियों से दूर रखने का सबसे कारगर उपाय है। लोग मास्क पहनकर निकल रहे हैं। सैनिटाइजर लेकर निकल रहे हैं। अस्पताल में भर्ती स्वजनों को देखने जा रहे हैं तो मास्क, ग्लव्स, सैनिटाइजर साथ लेकर जा रहे हैं। शारीरिक दूरी का भी खास ख्याल रखा जाने लगा है क्योंकि लोग समझने लगे हैं कि अब भी नहीं चेते तो शायद बहुत देर हो जाए। हालांकि इस विकट संकटपूर्ण हालात में भी कई जगह बेफिक्री चिंता में डाल रही है। एक बड़ा वर्ग काफी सावधान, सतर्क है तो ऐसे लोग भी हैं जिन्हें शायद अब भी इस बात का आभास नहीं है कि कोरोना संक्रमण किस कदर कहर ढा रहा है। ऐसे लोग बेफिक्र घूम रहे हैं। मास्क नहीं पहन रहे। सैनिटाइजर क्या होता है शायद इन्हें मालूम भी नहीं। अपनी जान जोखिम में डाल रहे हैं तो अपने साथ दूसरों के लिए भी गंभीर खतरा बने हैं। इस संकट की घड़ी में हमारे फोटो जर्नलिस्ट संजय सुमन ने अपनी राजधानी के विभिन्न स्थानों पर जाकर दोनों ही तरह के लोगों, उनकी गतिविधियों को कैमरे में कैद किया। उद्देश्य यह कि इन्हें देखकर शायद उन्हें अक्ल आ जाए जो मामले को हल्के में लेकर हालात को नहीं समझ रहे है। वक्त की जरूरत है कि अब भी संभल जाएं। कहीं ऐसा न हो कि बाद में पछताना पड़ जाए।शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

May 06, 2021 01:10 UTC


मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ: देश में संक्रमण की तीसरी लहर आने की चेतावनी, कोरोना की एक और दवा को मंजूरी और सरकार IDBI बैंक में हिस्सेदारी बेचेगी

Hindi NewsNationalCorona Drug Third Wave | Dainik Bhaskar News Headlines; Third Wave Of COVID Inevitable India Will Get Antibody Cocktail Soon Cabinet Clears Strategic Disinvestment In IDBI BankAds से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐपमॉर्निंग न्यूज ब्रीफ: देश में संक्रमण की तीसरी लहर आने की चेतावनी, कोरोना की एक और दवा को मंजूरी और सरकार IDBI बैंक में हिस्सेदारी बेचेगीनमस्कार! शपथ के बाद ममता को राज्यपाल ने क्यों दी नसीहत और मराठा आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या फैसला सुनाया? टूर्नामेंट के बाकी मैच कब और कहां खेले जाएंगे? अभी जो विदेशी खिलाड़ी भारत में हैं, उन्हें उनके देश कब और कैसे भेजा जाए?

May 06, 2021 00:31 UTC


कृषि संबंधित वस्तुओं को कोरोना क‌र्फ्यू से छूट

कोरोना क‌र्फ्यू के दौरान सभी बाजार बंद रहेंगे। सिर्फ जरूरी वस्तुओं की दुकानें खुलने के निर्देश दिए गए हैं। कृषि से संबंधित बीज उपकरण आदि को भी आवश्यक वस्तुओं में शामिल किया गया है। इनकी दुकानें बिना किसी प्रतिबंध खोली जाएंगी।जासं, मैनपुरी: कोरोना क‌र्फ्यू के दौरान सभी बाजार बंद रहेंगे। सिर्फ जरूरी वस्तुओं की दुकानें खुलने के निर्देश दिए गए हैं। कृषि से संबंधित बीज, उपकरण आदि को भी आवश्यक वस्तुओं में शामिल किया गया है। इनकी दुकानें बिना किसी प्रतिबंध खोली जाएंगी।वर्तमान में रबी फसलों की कटाई लगभग समाप्त हो चुकी है। अब जायद में मूंग, मक्का, मूंगफली, ज्वार, बाजरा, हरा चारा आदि की बुआई की जाएगी। इसके लिए किसानों ने खेतों में परवट कर दी है। बुवाई के दौरान किसानों को उर्वरक, बीज, एवं कृषि रक्षा रसायनों की जरूरत पड़ेगी। अगर समय पर किसानों को बीज, उर्वरक नहीं मिला तो फसलें प्रभावित होंगी और उन्हें नुकसान उठाना पड़ेगा।जिला कृषि अधिकारी डा. गगनदीप सिंह ने बताया कि कृषि से संबंधित उर्वरक, बीज, रसायन आदि किसानों तक समय से पहुंचाया जाएगा। इसके लिए कोरोना क‌र्फ्यू में नई गाइडलाइन जारी की जाएगी। जिससे किसानों को कृषि से संबंधित वस्तुएं समय से मिल सकें।-करना होगा बंदिशों का पालन-कृषि दुकानदार और किसानों को खरीद-फरोख्त के दौरान कोरोना बंदिशों का पालन करना होगा। मास्क और शारीरिक दूरी अनिवार्य होगी।पुलिस के लिए चुनौती बन रहे बेवजह घूमने वालेजासं, मैनपुरी: कोरोना क‌र्फ्यू का पालन कराने के लिए पुलिस मुस्तैदी के साथ जुटी हुई है। अलग-अलग स्थानों पर बैरियर लगाकर चेकिग की जा रही है। पुलिस की टीमें सड़कों पर भ्रमण कर क‌र्फ्यू का पालन करा रही हैं। उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है। वहीं, बेवजह सड़कों पर घूमने वाले लोग पुलिस के लिए परेशानी खड़ी कर रहे हैं। पकड़े जाने पर लोग अलग-अलग प्रकार के बहाने बनाकर पुलिसकर्मियों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं।कोविड के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने कोरोना क‌र्फ्यू का एलान किया है। शुक्रवार को शुरू हुआ क‌र्फ्यू अब 10 मई तक बढ़ा दिया गया है। इसका पालन कराने का जिम्मा पुलिस को सौंपा गया है। क‌र्फ्यू लागू होने के बाद से ही पुलिस मुस्तैदी के साथ इसका पालन कराने में जुटी हुई है। बुधवार को भी पुलिस की टीमें जिले भर का भ्रमण कर इसका पालन कराती रहीं। कई बाइक सवारों के चालान काटे गए। बिना मास्क लगाए घूमने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की और उनसे जुर्माना वसूला। आलाधिकारी भी जिले का भ्रमण कर हालात की जानकारी लेते रहे।इस दौरान दवाई लेने के लिए जाने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। पिकेट ड्यूटी पर तैनात एक पुलिसकर्मी ने बताया कि चेकिंग के दौरान ऐसे बहुत बाइक सवार मिलते है, जिनके पास दवा का पर्चा नहीं होता है, लेकिन वे दवा लेने के लिए जाने की बात कहते हैं। एएसपी मधुवन कुमार सिंह ने बताया कि क‌र्फ्यू का पालन कड़ाई से किया जा रहा है।शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

May 05, 2021 22:51 UTC


Tags
Finance      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care       Online test prep Corona       Crypto      Vpn      Taimienphi.vn      App Review      Company Review      Game Review     
  

Loading...