Mayawati Attacks On Yogi Adityanath & EC: यूपी लोकसभा चुनाव 2019 : बैन हटते ही मायावती ने योगी आदित्यनाथ के 'टेंपल रन' पर उठाया सवाल, चुनाव आयोग पर भी निशाना - News Summed Up

Mayawati Attacks On Yogi Adityanath & EC: यूपी लोकसभा चुनाव 2019 : बैन हटते ही मायावती ने योगी आदित्यनाथ के 'टेंपल रन' पर उठाया सवाल, चुनाव आयोग पर भी निशाना


लोकसभा चुनाव का आगाज हो चुका है और दूसरे चरण में 12 राज्यों की 95 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। चुनाव में उतरे कई उम्मीदवारों की चर्चा तो है ही, कई सीटें भी कई मायनों में खास हैं। मथुरा पर बीजेपी के लिए हेमा मालिनी तो फतेहपुर सीकरी से कांग्रेस के लिए राज बब्बर मैदान में हैं। वहीं, श्रीनगर में फारूक अब्दुल्ला नैशनल कॉन्फ्रेंस और तुमकुर में एचडी देवगौड़ा जेडी(एस) के लिए लड़ रहे हैं। लोकसभा चुनाव इस बार 7 चरणों में पूरे होंगे और 23 मई को परिणाम आएगा। एक नजर दूसरे चरण की इन हॉट सीट्स पर--नई दिल्ली जंक्शन: मोदी पर क्या बोले हरियाणा-पंजाब के लोग? Xचुनाव प्रचार के दौरान विवादित बोल पर चुनाव आयोग के दो दिनों का बैन हटते ही बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की मुखिया मायावती ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और चुनाव आयोग पर हमला बोला है। उन्होंने गुरुवार सुबह ट्वीट करके योगी पर निशाना साधा। इतना ही नहीं, उन्होंने चुनाव आयोग को भी निशाने पर लिया और बीजेपी पर मेहरबानी करने का आरोप लगाया। मायावती ने सवाल उठाया कि चुनाव आयोग भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर इतना मेहरबान क्यों है?दरअसल चुनाव आयोग ने चुनाव प्रचार के दौरान मायावती के 48 घंटे और योगी आदित्यनाथ के 72 घंटे तक चुनाव प्रचार करने पर रोक लगाई थी। इस दौरान योगी लखनऊ से लेकर अयोध्या तक कई मंदिरों में गए। अयोध्या में वह एक दलित के घर पहुंचे और यहां खाना खाया। वह पूरी तरह से निजी दौरे पर रहे। इस दौरान उन्होंने कोई चुनाव प्रचार नहीं किया, न ही मीडिया में कोई बात की लेकिन वह मीडिया में खूब चर्चा में रहे। ऐसे में मायावती ने कई सवाल खड़े किए हैं।बीएसपी सुप्रीमो ने योगी पर ड्रामा करके खुद का प्रचार करवाने का आरोप लगाया है। मायावती ने यूपी सीएम पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया, 'चुनाव आयोग की पाबंदी का खुला उल्लंघन करके यूपी के सीएम योगी शहर-शहर व मंदिरों में जाकर और दलित के घर बाहर का खाना खाने आदि का ड्रामा करके तथा उसको मीडिया में प्रचारित, प्रसारित करवाके चुनावी लाभ लेने का गलत प्रयास लगातार कर रहे हैं।'मायावती ने सिर्फ योगी पर ही नहीं, बल्कि चुनाव आयोग पर भी निशाना साधते हुए ट्वीट किया, 'आयोग उनके प्रति मेहरबान है, क्यों? अगर ऐसा ही भेदभाव व बीजेपी नेताओं के प्रति चुनाव आयोग की अनदेखी व गलत मेहरबानी जारी रहेगी तो फिर इस चुनाव का स्वतंत्र व निष्पक्ष होना असंभव है। इन मामलों में जनता की बेचैनी का समाधान कैसे होगा? बीजेपी नेतृत्व आज भी वैसी ही मनमानी करने पर तुला है, जैसे वह अब तक करता आया है। क्यों? 'बता दें कि चुनाव प्रचार के दौरान मायावती और योगी आदित्यनाथ के कथित रूप से विद्वेष फैलाने वाले भाषणों का सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को संज्ञान लिया था। इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने निर्वाचन आयोग से जानना चाहा कि उसने इनके खिलाफ अभी तक क्या कार्रवाई की। इसके बाद चुनाव आयोग ने मायावती के चुनाव प्रचार करने पर 48 घंटे और योगी आदित्यनाथ पर 72 घंटे का बैन लगाया था।


Source: Navbharat Times April 18, 2019 03:06 UTC



Loading...

Loading...