अलवर लिंचिंग: अखिलेश बोले, फिर दोषियों को पहनाई जाएगी माला - Navbharat Times Hindi Newspaper - News Summed Up

अलवर लिंचिंग: अखिलेश बोले, फिर दोषियों को पहनाई जाएगी माला - Navbharat Times Hindi Newspaper


भीड़तंत्र फिर से अलवर में अकबर की हत्या कर गया. सत्ताधारी एक बार फिर ‘दोषियों के ख़िलाफ़ कठोर कार्रवाई करेंगे’ जैसे… https://t.co/dEgyjQRgKK — Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) 1532237305000राजस्थान के अलवर में कथित गो-तस्करी के शक में एक शख्स की पीट-पीटकर हत्या करने के मामले में यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी ( बीजेपी ) पर करारा हमला बोलते हुए तीखा तंज कसा है।रविवार को अखिलेश ने ट्वीट किया, 'भीड़तंत्र फिर से अलवर में अकबर की हत्या कर गया। सत्ताधारी एक बार फिर 'दोषियों के ख़िलाफ कठोर कार्रवाई करेंगे' जैसे खोखले दावे करके फिर से उन हिंसक लोगों को पुरस्कृत और गले में माला डालकर सम्मानित करेंगे और ऐसी घटनाओं पर चुप रहनेवालों की चुप्पी और भी गहरी हो जाएगी। घोर निंदनीय! 'आपको बता दें कि पिछले साल रामगढ़ में एक मीट कारोबारी मोहम्मद अलीमुद्दीन की भीड़ ने गोहत्या के शक में पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इस मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट ने इसी साल मार्च महीने में 11 लोगों को दोषी करार दिया था लेकिन पिछले महीने रांची हाई कोर्ट ने उनमें से 8 की उम्रकैद की सजा पर रोक लगाकर जमानत पर रिहा कर दिया था।इसके बाद ये सभी नागरिक उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा के हजारीबाग स्थित आवास पहुंचे थे। यहां जयंत ने उन्हें गले में माला पहनाकर स्वागत किया था और मिठाई भी खिलाई थी। इसकी तस्वीर सामने आने के बाद जयंत सिन्हा की हर ओर आलोचना होने लगी थी। इस पर केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने अपनी सफाई में कहा था, 'जब उन लोगों को जमानत मिली तो वह मेरे घर आए। मैंने उन सभी को बधाई दी। भविष्य में कानून को उसका काम करने दें। जो आरोपी हैं उन्हें सजा मिलेगी और जो निर्दोष होंगे वह मुक्त होंगे।'गौरतलब है कि अलवर जिले के रामगढ़ इलाके के गांव लल्लावंडी में शुक्रवार रात स्थानीय लोगों ने अकबर नामक शख्स को गो-तस्कर बताकर पीटना शुरू कर दिया। बाद में अकबर की मौत हो गई। इस घटना की सूबे की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से लेकर केन्द्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह तक ने निंदा की थी। राजस्थान सरकार ने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने का भरोसा भी दिलाया है।


Source: Navbharat Times July 22, 2018 06:04 UTC



Loading...

Loading...