मोदी ने टीम भावना बनाए रखने के लिए 20 जून को लोकसभा-राज्यसभा सांसदों की बैठक बुलाई - Dainik Bhaskar

Dainik Bhaskar Jun 16, 2019, 06:07 PM ISTसर्वदलीय बैठक में मोदी ने कहा- इस बार नए सांसदों से मूल्यवान विचार मिलने की उम्मीदपार्टी लाइन तोड़कर तृणमूल-राकांपा समेत 6 दलों के नेता सर्वदलीय बैठक में पहुंचे17वीं लोकसभा का पहला सत्र 17 जून से शुरू होकर 26 जुलाई तक चलेगानई दिल्ली. संसद के बजट सत्र की शुरुआत से पहले मोदी सरकार ने रविवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई। इसके बाद संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने बताया कि हमें सहयोगी और विपक्षी दलों से अहम सुझाव मिले हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए सांसदों से मूल्यवान विचार मिलने की उम्मीद जताई है। उन्होंने लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसदों के बीच टीम भावना बनाए रखने के लिए 20 जून को बैठक भी बुलाई है। 17वीं लोकसभा का पहला सत्र 17 जून से शुरू होकर 26 जुलाई तक चलेगा।जोशी ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने संसद में 19 जून को सभी दलों के प्रतिनिधियों की बैठक बुलाई है। सरकार की ओर से इसके लिए सभी पदों के प्रमुखों को पत्र भेजा गया है। बैठक में एक देश एक चुनाव और महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को लेकर चर्चा होगी।पार्टी लाइन तोड़कर 6 दलों के नेता शामिल हुएसर्वदलीय बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सपा नेता राम गोपाल यादव और थावरचंद गहलोत समेत कई बड़े नेता शामिल हुए। पार्टी लाइन को तोड़कर वायएसआरसीपी नेता वी विजयसाई रेड्डी, तृणमूल नेता डेरेक ओ ब्रॉयन, नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला, राकांपा की सुप्रिया सुले, अपना दल (सोनेलाल) से अनुप्रिया पटेल, आप से संजय सिंह और तेदेपा के नेता जयदेव गल्ला भी बैठक में पहुंचे।सोनिया और विपक्षी नेताओं से मिले थे जोशीइससे पहले प्रह्लाद जोशी ने यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद समेत कई विपक्षी नेताओं से मुलाकात की। एनडीए के पास 545 सीटों वाली लोकसभा में 353 सदस्य हैं, लेकिन 245 सीटों वाली राज्यसभा में सिर्फ 102 सदस्य हैं। इस बार के सत्र में आर्थिक सर्वेक्षण 4 जुलाई और बजट 5 जुलाई को पेश किया जाएगा।

June 16, 2019 08:08 UTC


ऑफर / 2500 रुपए के रिफंडेबल डिपॉजिट पर मिलेगा Jio GigaFiber, कंपनी ने घटाए दाम

क्या मिलेगा‌? जियो गीगाफाइबर प्रिव्यू ऑफर में आपको 2.4 गीगाहर्ट्ज पर ऑपरेट करने वाला सिंगल बैंड वायरलैस राउटर मिलेगा। यानी यह कनेक्शन ऐसे वायरलेस मॉड्यूल के साथ काम नहीं कर पाएगा जो 5ghz पर ऑपरेट करते हैं। स्मार्टफोन, नोटबुक, कंप्यूटर, टेलीविजन समेत अधिकतर डिववाइसेज 5Ghz और 2.4Ghz बैंड को सपोर्ट करते हैं, लेकिन 5Ghz बैंड को बेहतर माना जाता है। ऑफर का रिफंडेबल डिपॉजिट घटाने के साथ कंपनी ने प्लान में मिलने वाली स्पीड को भी कम कर दिया गया है। बैंडविड्थ को 50Mbps से कम करके 100Mbps कर दिया गया है। इसके अलावा 4,500 रुपए और 2,500 रुपए के प्रिव्यू ऑफर में कोई फर्क नहीं है। दोनों में ही यूजर्स को महीने का 1,000 जीबी डाटा मिलेगा। ब्रॉडब्रैंड प्लान ने लेने तक दोनों ही प्रिव्यू प्लान हर महीने मुफ्त में रिन्यू हो जाएंगे। हालांकि दोनों ऑफर्स में डाटा और वैलिडिटी प्लान अलग होने की संभावना है।

June 16, 2019 08:03 UTC


सचिन ने डेब्यू से पहले पाक के लिए की थी फील्डिंग, आधिकारिक रूप से दोनों टीमों से खेल चुके हैं 3 खिलाड़ी - Dainik Bhaskar

Dainik Bhaskar Jun 16, 2019, 02:27 PM ISTसचिन ने 1987 में पाक की ओर से फील्डिंग की थी, प्रदर्शनी मैच की वजह से इसे रिकॉर्ड बुक में शामिल नहीं किया गयाभारत के लिए खेलने वाले अब्दुल हफीज करदार बंटवारे के बाद पाकिस्तान से खेले, फिर राजनीति में उतरेस्पोर्ट्स डेस्क. 20 जनवरी 1987 को क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया (सीसीआई) के 50 साल (गोल्डन जुबली) पूरे होने पर मुंबई के ब्रेबॉर्न स्टेडियम में भारत और पाकिस्तान के बीच प्रदर्शनी मैच रखा गया था। यह पांच मैचों की टेस्ट सीरीज से पहले 40-40 ओवर का मैच था। भारत की बल्लेबाजी के दौरान लंच में जावेद मियांदाद और अब्दुल कादिर ने फील्ड छोड़ दी। लेकिन पाकिस्तान के पास भी सब्सटीट्यूट खिलाड़ी का विकल्प नहीं था। ऐसे में करीब 14 साल के रहे सचिन को मेहमान टीम की तरफ से फील्ड पर उतरने का मौका मिल गया।तीन खिलाड़ियों ने भारत-पाक दोनों के लिए मैच खेले1. अब्दुल हाफिज करदार: अब्दुल हाफिज को पाकिस्तानी क्रिकेट के पिता क्रिकेटरों में से एक के तौर पर जाना जाता है। हालांकि, लाहौर में जन्में हाफिज ने अपने करियर की शुरुआत पाक के बनने से कई साल पहले भारतीय टीम के लिए की थी। वे 1946 में इंग्लैंड का दौरा करने वाली भारतीय टीम का भी हिस्सा थे। भारत के लिए उन्होंने कुल तीन टेस्ट खेले। बंटवारे के बाद उन्होंने पाक के लिए 23 टेस्ट किए थे। हाफिज ने बाद में पाक की राजनीति में भी हाथ आजमाया और स्विट्जरलैंड में पाकिस्तान के राजदूत की जिम्मेदारी निभाई। इससे पहले वे 1972 से लेकर 1977 तक पाक क्रिकेट बोर्ड के सिलेक्शन चेयरमैन भी रहे थे।2. आमिर इलाही: आमिर इलाही ने करियर में सिर्फ 6 टेस्ट खेले। लेकिन वे दो देशों के लिए खेलने वाले कुल 12 क्रिकेटरों में से एक और सबसे उम्रदराज 20 खिलाड़ियों में से एक रहे। उन्होंने अपना एक मैच भारत के लिए 1947 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेला था। बंटवारे के बाद उन्होंने पाक की तरफ से भारत के खिलाफ पांच टेस्ट खेले। उनके करियर की सबसे खास पारी मद्रास में भारत के खिलाफ खेली थी। आखिरी विकेट के लिए उन्होंने जुल्फिकार अहमद के साथ 104 रन की साझेदारी की थी। इसमें आमिर के 47 रन थे।3. गुल मोहम्मद: अपने करियर में 9 टेस्ट खेलने वाले गुल मोहम्मद ने आठ मैच भारत के लिए खेले। गुल 1946 में इंग्लैंड और 1947-48 में ऑस्ट्रेलिया का दौरा करने वाली भारतीय टीम में शामिल थे। 1955 में पाकिस्तान की नागरिकता लेने के बाद उन्हें एक मैच पाकिस्तान की तरफ से खेलने का मौका मिला। बाद में गुल ने क्रिकेट प्रशासन में शामिल हुए और 1987 तक लाहौर स्थित गद्दाफी स्टेडियम के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर रहे।

June 16, 2019 07:51 UTC


हरियाणा / मौसम ने ली करवट, कई जिलों में बारिश के बाद मिली झुलसा देने वाली गर्मी से राहत

Dainik Bhaskar Jun 16, 2019, 07:29 PM ISTशनिवार को उड़ रही रेत को देखकर नहीं लग रहे थे बारिश के आसार, देर रात को ही झड़ी शुरू हो गईहिसार, सिरसा, फतेहाबाद समेत कई जिलों में बारिश हुई तो वहीं कई जिलों में बादल छाए रहे16, 17 और 18 जून को 30-40 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से धूल भरी आंधी चलने और हल्की बारिश का अनुमानपानीपत. हरियाणा में शनिवार रात अचानक काली घटाएं छाई और टपकना शुरू हो गई। देर रात से ही शुरू हुई रिमझिम रविवार भोर होते-होते झमाझम बरसात में बदल गई। सुबह जब आंख खुली तो बादलों की गड़गडा़हट व बरसात से मौसम सुहाना हो गया। कई जिलों में बारिश 50 एमएम से भी ज्‍यादा हो चुकी है। इसके चलते लोग झुलसा देने वाली गर्मी से राहत महसूस कर रहे हैं। पिछले करीब 20 दिन से झुलसा देने वाली गर्मी ने लोगों को परेशान कर रखा था।शनिवार दोपहर तक जहां लोग गर्मी और धूप के मारे घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे थे, वहीं रविवार की सुबह कुछ अलग ही थी। ठंडी-ठंडी फुहारों से मौसम खुशनुमा हो गया। लंबी गर्मी के बाद बारिश के कारण लोगों ने राहत की सांस ली है। हिसार, सिरसा, फतेहाबाद समेत कई जिलों में बारिश हुई तो वहीं कई जिलों में बादल छाए रहे। हालांकि शनिवार रात तक उड़ रही रेत को देखकर नहीं लग रहा था कि बारिश होगी, मगर देर रात को ही झड़ी शुरू हो गई। शनिवार देर रात से ही शुरू हुई रिमझिम रविवार भोर होते-होते झमाझम बरसात में बदल गई। सुबह जब आंख खुली तो बादलों की गड़गडा़हट व बरसात से मौसम सुहाना हो गया।एक तरफ जहां बीते कई दिनों से लगाया जा रहा मौसम विभाग का अनुमान बिल्कुल लगभग सही निकला। मौसम विभाग द्वारा हल्‍की बूंदाबांदी होने का आसार बारिश में बदल गया। वहीं आने वाले दिनों में भी कहीं-कहीं हल्की बूंदाबांदी हो सकती है। माैसम विभाग की मानें तो 16, 17 और 18 जून को 30-40 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से धूल भरी आंधी चलने और गरज-चमक के साथ हल्की बारिश होने का अनुमान है। ऐसे में अगले तीन दिन तक मौसम इसी तरह का बना रह सकता है।हालांकि मौसम विभाग के रिकॉर्ड के मुताबिक हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली क्षेत्र में जून के पहले 13 दिन में 84 प्रतिशत कम बारिश हुई है। अगर 19 जून तक मानसून पूर्व बौछारें पड़ीं तो कुछ हद तक इस कमी की भरपाई हो सकती है।

June 16, 2019 07:50 UTC


ओमान टैंकर विस्फोट: टकराव के मुहाने पर खड़े ईरान और अमेरिका, यूएई भी मैदान में कूदा

वाशिंगटन, एजेंसी । ओमान की खाड़ी में दो तेल टैंकरों के रहस्यमय विस्फोट ने दुनिया के दो देशों को टकराव के मुहाने पर लाकर खड़ा कर दिया है। अमेरिका का आरोप है कि ओमान की खाड़ी के निकट होमरुज स्ट्रेट(Strait of Homruz) में तेल टैंकरों पर हुए इस हमले को ईरान ने अंजाम दिया है। वहीं ईरान का कहना है कि ओमान की खाड़ी(Strait of Homruz) की सुरक्षा की जिम्मेदारी उसकी है और उसने ऐसा कोई काम नहीं किया है। ईरान ये यह भी कहा कि हमले के बारे में दिए जा रहे सबूत मनगढ़ंत हैं। ईरान ने अपनी सफाई में यह भी कहा है कि तेल टैंकरों के चालक दलों को बचाने में उसके सुरक्षा अधिकारियों ने तत्परता दिखाई थी।वहीं इस मामले पर संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्ला बिन जायद अल नहयान (Sheikh Abdullah bin Zayed Al Nahyan) ने भी अमेरिका के सुर में सुर मिलाया है। उनका कहना है कि तेल टैंकरों पर हुए हमले में ईरान का हाथ स्पष्ट है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को यहां से गुजरने वाले जहाजों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाना चाहिए।क्यों अहम है होमरुज स्ट्रेट ? इस घटना ने क्यों पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है, इसे जानने के लिए होमरुज स्ट्रेट(Strait of Homruz) की महत्ता को समझना होगा। दुनियाभर में करीब एक तिहाई कच्चे तेल की आवाजाही इसी स्ट्रेट (Strait)से होती है। इसके अलावा प्राकृतिक गैस का करीब पांचवां हिस्सा भी यहीं से होकर जाता है। ऐसे में इस स्ट्रेट को निशाना बनाकर पूरी दुनिया में कच्चे तेल की आपूर्ति को प्रभावित किया जा सकता है।अमेरिका क्यों है परेशान ? जिन दो टैंकरों पर हमले की बात कही जा रही है, उनका दूर-दूर तक अमेरिका से संबंध नहीं है। फिर भी इस मामले में अमेरिका के हस्तक्षेप की बड़ी वजह है। दूसरे विश्व युद्ध के समय से ही अमेरिका ने फारस की खाड़ी से पेट्रोलियम की सुरक्षित आवाजाही सुनिश्चित करने का भरोसा दिया है। 1990-91 में खाड़ी युद्ध के दौरान इस क्षेत्र में सैन्य उपस्थिति के जरिये अमेरिका ने फिर अपनी प्रतिबद्धता जता दी थी। भले ही अमेरिका के टैंकर शामिल नहीं हों, लेकिन इस रास्ते के बंद होने से अमेरिकी हितों पर भी प्रभाव पड़ेगा।ट्रंप के निशाने पर है ईरानईरान को लेकर डोनाल्ड ट्रंप हमलावर रहे हैं। ऐसे में वह ईरान को घेरने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं। इजरायल और अरब देशों की तरह ट्रंप भी मानते हैं कि ईरान क्षेत्र की शांति भंग कर रहा है। 2015 में उन्होंने ईरान के साथ हुए परमाणु समझौते से भी अमेरिका को अलग कर लिया था। इस समझौते में अमेरिका ने परमाणु कार्यक्रमों पर नियंत्रण के बदले ईरान की आर्थिक मदद का भरोसा दिया था। ट्रंप ने ईरान पर फिर प्रतिबंध लगा दिए हैं। इन प्रतिबंधों का लक्ष्य है कि ईरान का तेल निर्यात बाधित हो जाए। ईरान की सेना को वह आतंकी संगठन का दर्जा भी दे चुके हैं।लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Shashankp

June 16, 2019 07:41 UTC


कश्मीर को फिर दहलाने की फिराक में आतंकी, पाकिस्तान से आया अलर्ट

श्रीनगर, एजेंसी। आतंकी एक बार फिर घाटी को दहलाने की फिराक में हैं। पाकिस्तान की तरफ में मिले इनपुट के बाद सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हमले की आशंका को लेकर सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट पर रखा गया है। सूत्रों के मुताबिक आतंकी हाल ही में मारे गए अंसार गजावत उल हिंद का कमांडर जाकिर मूसा की हत्या का बदला लेना चाहते हैं।पाकिस्तान से आया हमले का अलर्टपाकिस्तान ने कश्मीर में हमले का अलर्ट भारत और अमेरिका के के साथ साझा किया है। इनपुट में कहा गया है कि आतंकी अमरनाथ यात्रा से पहले या यात्रा के दौरान अपने मंसूबों को अंजाम दे सकते हैं। इनपुट में कहा गया है कि अलकायदा के आतंकी दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में किसी बड़े हमले को अंजाम दे सकते हैं। बता दें कि हमले का अलर्ट उसी जगह का है, जहां 14 फरवरी को सुरक्षाबलों के काफिले पर अत्मघाती हमला हुआ था।जाकिर मूसा की हत्या का बदलाअलर्ट में कहा गया है कि आतंकी जाकिर मूसा की हत्या का बदला लेना चाहते है। हाल ही में सुरक्षाबलों ने त्राल इलाके में अंसार उल गजवात ए हिंद के कमांडर आतंकी मूसा को मार गिराया था। बता दें कि जाकिर मूसा ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ कश्मीर जाकर हथियार उठा लिया था। मूसा 2013 से आतंक की दुनिया में सक्रिय हो गया था। पहले वो बुरहान वानी के साथ हिजबुल मुजाहिद्दीन से जुड़ा। साल 2017 के दौरान वो अल कायदा के संपर्क में आया और अंसार गजावत उल हिंद के नाम से अलग आतंकी संगठन खड़ा कर लिया।अमरनाथ यात्रा को लेकर सुरक्षा एजेंसियां अलर्टअमरनाथ यात्रा के दौरान पवित्र गुफा तक जाने वाला मार्ग अवंतीपोरा से होकर गुजरता है। जहां आतंकी सबसे ज्यादा सक्रिय रहते हैं। कश्मीर में अमरनाथ यात्रा को लेकर सुरक्षाबल पहले से ही अलर्ट पर हैं। इनपुट को सेना, सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी और राज्य पुलिस के साथ साझा किया गया है। अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा के लिए सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) की लगभग 450 अतिरिक्त कंपनियां सुरक्षा के लिए तैनात की जा रही हैं।बता दें कि पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद ने पुलवामा में आतंकी हमला किया था, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर जैश के आतंकी ठिकाने को तबाह कर दिया था।लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Manish Pandey

June 16, 2019 07:33 UTC


राजगढ़ / जेसीबी से टकराई तेज रफ्तार कार; ड्राइवर की मौत, एक ही परिवार के पांच सदस्य घायल

Dainik Bhaskar Jun 16, 2019, 01:00 PM ISTराजगढ़. जिले के ब्यावरा थाना क्षेत्र में रविवार सुबह जेसीबी और कार की टक्कर हो गई। इसमें कार ड्राइवर की मौत हो गई। जबकि एक ही परिवार के पांच लोग घायल हो गए। घायलों को राजगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसा सुबह 9 बजे हुआ।गुना जिले के मधुसूदनगढ़ के रहने वाले परिहार परिवार के लोग शादी समारोह में शामिल होकर लौट रहे थे। इसी दौरान एक जेसीबी ने उनकी कार को टक्कर मार दी। हादसे में कार चला रहे शैलेंद्र की गर्दन कट गई और उसमें सवार बाकी 5 लोग घायल हो गए। घायलों को अस्पताल ले जाया गया, जिसमें से दो को रेफर किया गया है। हादसे में कार की छत उड़ गई और वह बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई।

June 16, 2019 07:07 UTC


देश को एक सूत्र में पिरोने के लिए 'हिंदी' बनें

[जागरण स्पेशल]। जिसे हिंदी को जानने-समझने और सीखने के लिए दुनिया के तमाम देश आतुर हैं, उसी हिंदी को लेकर उसके देश के कुछ हिस्से में ही हिचक दिखाई देना चिंता की बात है। तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था और दुनिया के सबसे बड़े बनते उपभोक्ता बाजार के नाते तमाम बहुराष्ट्रीय कंपनियां कारोबार के लिए भारत का रुख कर रही हैं। वे बड़ा पूंजी निवेश कर रही हैं।यहां कारोबार चलाने के लिए व भाषा की दिक्कत को दूर करने कोर् हिंदी भाषी कर्मचारियों को तवज्जो दे रही हैं। लेकिन हाल में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के मसौदे में त्रिभाषा फार्मूले के तहर्त हिंदी को अनिवार्य बनाए जाने को लेकर दक्षिण के राज्यों में विरोध शुरू हो गया। ये बात और है कि लोकप्रियता हासिल करने के लिए वे अपने साहित्य में हिंदी पढ़ाने के लिए बेसब्र रहते हैं और अपनी फिल्मों र्को हिंदी में तैयार कराकर करोड़ों के वारे-न्यारे करते हैं। यह दोहरापन इस तथाकथित विरोध को सियासी ठहराने के लिए काफी है।दक्षिण के राज्यों के विरोध में केंद्र सरकार्र हिंदी को मजबूत बनाने के अपने दायित्व से पीछे हटस जाती है तभी तो त्रिभाषा फार्मूले र्से हिंदी की अनिवार्यता को उसे खत्म करना पड़ा। अब सरकार के इस कदम का विरोध भी शुरू हो गया है। पूरे देश को एक सूत्र में पिरोने के मकसद से नई शिक्षा नीति को तैयार करने वाली कमेटी के दो वरिष्ठ सदस्यों ने बगैर सहमति त्रिभाषा फार्मूले से हिंदी को हटाए जाने का विरोध किया है। ऐसे र्में हिंदी के प्रति दक्षिण राज्यों की इस हिचक की पड़ताल आज सबसे बड़ा मुद्दा है।लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Neel Rajput

June 16, 2019 06:56 UTC


भोपाल / गाने-बजाने को लेकर विवाद दूल्हे के सीने पर चाकू से वार

Dainik Bhaskar Jun 16, 2019, 12:36 PM ISTशाहजहांनाबाद क्षेत्र में शादी समारोह के दौरान वारदातभोपाल। शाहजहांनाबाद इलाके में शुक्रवार की देर रात शादी समारोह में गाने-बजाने को लेकर हुए विवाद में बदमाश ने दूल्हे पर चाकू से हमला कर दिया। चाकू से सीने पर वार किया। बचने के दौरान चाकू उसके हाथ और आंख के पास लगा है। वारदात को अंजाम देकर बदमाश मौके से फरार हो गया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया है।पुलिस के मुताबिक शाहजहांनाबाद के मजदूर नगर निवासी 23 वर्षीय मनोज कुमार जाटव हमीदिया अस्पताल में वार्ड ब्वाॅय का काम करता है। शनिवार को उसकी शादी होना थी। शुक्रवार देर रात घर पर गाने-बजाने का कार्यक्रम चल रहा था। रात करीब 12:15 बजे पड़ोस में रहने वाला अदनान उसके घर पहुंचा और गाली-गलौज करते हुए म्यूजिक बंद करने को कहा। विरोध करने पर सबक सिखाने का कहकर चला गया।कुछ ही देर बाद वह वापस पहुंचा और मनोज के साथ फिर से गाली-गलौज करने लगा। उसने जातिसूचक शब्दों से अपमानित भी किया। मनोज ने जब उसे गाली देने से मना किया तो उसने चाकू से उसके सीने पर वार कर दिया। बचने के लिए मनोज झुक गया तो चाकू आंख के ऊपर माथे पर लगा, जिससे वह घायल हो गया। इसी बीच अदनान ने दूसरा वार किया तो उसके बाएं हाथ पर लगा। परिजन और रिश्तेदारों ने उसे बचाने का प्रयास किया तो आरोपी उन्हें धमकाते हुए भाग निकला। गंभीर रूप से घायल मनोज को तत्काल ही इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया।इधर, हमले के बाद दोनों पक्षों के 12 से ज्यादा लोग आमने-सामने आ गए। मोहल्ले में तनाव की सूचना मिलते ही आला अफसर भी मौके पर पहुंच गए और मामले को शांत कराया। बाद में मनोज की रिपोर्ट पर अदनान के खिलाफ घर में घुसकर हत्या का प्रयास करने और जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है।

June 16, 2019 06:56 UTC


PM नरेंद्र मोदी ने बुलाई सभी पार्टी अध्यक्षों की बैठक, वन नेशन, वन इलेक्शन पर होगी बात

नई दिल्ली, एजेंसी। सोमवार से शुरू हो रहे 17वीं लोकसभा के पहले सत्र के मद्देनजर संसद में सर्वदलीय बैठक बुलाई। इस बैठक में शामिल होने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, प्रहलाद जोशी और थावरचंद गहलोत समेत तमाम बड़े नेता पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बैठक में मौजूद रहें। संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने 19 जून को संसद में सभी राजनीतिक दलों के अध्यक्षों की बैठक बुलाई है। इस दौरान वह 'वन नेशन, वन इलेक्शन' और महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती सहित कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करेंगे।केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री संसद में टीम भावना क् निर्माण करना चाहते हैं, इसलिए उन्होंने 20 जून को सभी लोकसभा और राज्यसभा सांसदों की बैठक बुलाई है।कहा जा रहा था कि केंद्र सरकार इस सत्र में महत्वपूर्ण विधेयकों को पारित कराने के लिए विपक्ष का सहयोग मांगेगी। इन विधेयकों में तत्काल तीन तलाक विधेयक भी शामिल है, जिसे केंद्रीय मंत्रिमंडल ने हाल ही में मंजूरी दी है। बता दें कि संसद सत्र के सुचारू संचालन में कांग्रेस का सहयोग मांगने के लिए शुक्रवार को कांग्रेस संसदीय दल प्रमुख सोनिया गांधी से प्रह्लाद जोशी ने मुलाकात की थी। उनके साथ केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और अर्जुन राम मेघवाल भी थे।जानकारी के लिए बता दें कि 17 जून से शुरू हो रहा संसद का बजट सत्र 26 जुलाई तक चलेगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 20 जून को अभिभाषण देंगे। इसके बादल 4 जुलाई को आर्थिक सर्वे पेश किया जाएगा। इसके बाद देश की पहली महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश करेंगी। गौरतलब है कि तीन तलाक बिल को लेकर कांग्रेस ने एक बार फिर से अलग राय रखी है। कांग्रेस ने कहा है कि सरकार को सभी दलों की सहमति से इसे आगे बढ़ाना चाहिए। बता दें कि इससे पहले यह बिल लोकसभा में पास हुआ था, लेकिन राज्यसभा में लटक गया था।लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Ayushi Tyagi

June 16, 2019 06:32 UTC


अव्यवस्था / बैंक को 28 साल बाद भी नहीं मिले भाजपा सरकार के समय हुई कर्जमाफी के 5 करोड़ रुपए

Dainik Bhaskar Jun 16, 2019, 12:00 PM ISTजिला सहकारी केंद्रीय बैंक की 1991 में हुई कर्जमाफी की लेनदारी आज भी बाकीबैंक ने सरकार के नाम बकाया दर्ज कर रखी है यह राशिरतलाम. सीएम कमलनाथ के पहले वर्ष 1991 में भाजपा की पटवा सरकार भी किसानों की कर्जमाफी कर चुकी है। उस दौरान जिले के 30 हजार से ज्यादा किसानों का कर्ज माफ हुआ था। सरकार के आदेश पर इस बार की तरह उस दौरान भी जिला सहकारी केंद्रीय बैंक ने किसानों का कर्जा माफ कर दिया था, लेकिन सहकारी बैंक को अब तक कर्जमाफी के पांच करोड़ रुपए नहीं मिल पाए हैं।28 साल बाद आज भी बैंक ने यह राशि शासन के नाम पर लेनदारी के रूप में चढ़ा रखी है। अब कमलनाथ सरकार के आदेश पर बैंक ने फिर किसानों का 221 करोड़ रुपए का कर्जा माफ कर दिया है। इसमें से बैंक को अब तक महज 61 करोड़ ही शासन से मिले हैं।बैंक की राज्य सरकार पर 160 करोड़ रुपए की लेनदारी अब भी बाकी है। इससे बैंक ने यह राशि भी पटवा सरकार की तरह ही कमलनाथ सरकार पर शासन की लेनदारी में दर्ज कर रखी है। जैसे ही राशि मिलेगी शासन से लेनदारी हटाकर समायोजित कर ली जाएगी। बैंक का कहना है कि जुलाई में फिर से दूसरे दौर की कर्जमाफी की प्रक्रिया शुरू होगी। इससे राशि मिल जाएगी।शासन के नाम दर्ज कर रखा है बकायाजिला सहकारी केंद्रीय बैंक के महाप्रबंधक पी. धनवाल ने बताया पिछली कर्जमाफी का करीब 5 करोड़ रुपए बाकी है। इससे शासन के नामे चढ़ा रखा है। इस बार अब तक 61 करोड़ रुपए की राशि सरकार से मिल गई है। शेष राशि भी जल्द मिलने की उम्मीद है।ऐसे तो बैंकों की माली हालत खराब हो जाएगीलीड बैंक के पूर्व मैनेजर हिम्मत गेलड़ा ने बताया सरकार के आदेश पर बैंकें कर्जमाफी करती है। उन्हें सरकार पर भरोसा रहता है कि सरकार उनके अकाउंट में राशि डाल देगी। लेकिन राशि नहीं मिलती है तो बैंक की साख खराब होती है और धीरे-धीरे बैंकें बंद हो जाती है।बैंक की कर्जमाफी एक नजर में

June 16, 2019 06:22 UTC


Bharat Box Office Collection Day 11: सलमान की फिल्म ने 11 वें दिन मचाया धमाल, 200 करोड़ से बस इतनी दूर

Bharat Box Office Collection Day 11: सलमान की फिल्म ने 11 वें दिन मचाया धमाल, 200 करोड़ से बस इतनी दूरनई दिल्ली, जेएनएनl Bharat Box Office Collection Day 11, Salman Khan और Katrina Kaif की फिल्म 'Bharat' बॉक्स ऑफिस पर अब भी जमकर धमाल मचा रही हैl इस फिल्म ने 11 वें दिन अर्थात शनिवार को करीब 6 करोड़ रुपए की कमाई की हैंl इस बात की जानकारी बॉक्स ऑफिस इंडिया ने दी हैंl सलमान खान की फिल्म ने इसके साथ ही भारतीय बॉक्स ऑफिस पर 11 दिन में कुल 191 करोड़ की कमाई कर ली हैंl अब यह फिल्म 200 करोड़ के क्लब में शामिल होने से मात्र 9 करोड़ रुपए की दूर हैl जोकि अगले सप्ताह पूरे करने के पूरे आसार हैंlThank you @1947Partition for getting us to meet so many families who shared their experiences and memories. @Bharat_TheFilm #katrinakaif pic.twitter.com/cqlD6ARAGp — Salman Khan (@BeingSalmanKhan) June 14, 2019हाल ही में सलमान खान और कटरीना कैफ ने भारत और पाकिस्तान के बंटवारे का दंश झेलने वाले परिवारों से मुलाकात भी की थींl गौरतलब है कि इस फिल्म को पहले दिन बंपर ओपनिंग मिली थी और इस फिल्म ने कुल 42 करोड़ से अधिक का व्यापार बॉक्स ऑफिस पर कर लिया थाl ये सलमान खान की अब तक की सबसे बड़ी ओपनिंग वाली फिल्म बनी और इसके लिए सलमान खान ने दर्शकों का आभार भी व्यक्त कियाl सलमान खान और फिल्म निर्देशक अली अब्बास जफर की यह एक साथ की तीसरी फिल्म हैl जोकि बॉक्स ऑफिस पर सफल रही हैlयह भी पढ़ें: Hrithik Roshan की फिल्म Super 30 का नया गाना रिलीज, बदल देगा दिल का ‘Jugraafiya’इसके पहले ‘सुल्तान’ और ‘टाइगर जिन्दा है’ में दोनों साथ आए थे और दोनों हो फिल्में बॉक्स ऑफिस पर सफल रही हैl फिल्म भारत को दर्शकों के अलावा फिल्म समीक्षकों ने भी सराहा हैl फिल्म भारत में सलमान खान के अलावा दिशा पाटनी, तब्बू, सुनील ग्रोवर की अहम भूमिका हैंl इस फिल्म में भारत के 70 वर्षों के इतिहास के कुछ महत्वपूर्ण प्रसंगों को भी दर्शाया गया हैंlलोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Rupesh Kumar

June 16, 2019 06:15 UTC


Hrithik Roshan की फिल्म Super 30 का नया गाना रिलीज, बदल देगा दिल का ‘Jugraafiya’

Hrithik Roshan की फिल्म Super 30 का नया गाना रिलीज, बदल देगा दिल का ‘Jugraafiya’नई दिल्ली, जेएनएनl फिल्म अभिनेता Hrithik Roshan की फिल्म Super 30 का नया गाना रिलीज हुआ हैl इस गाने के बोल आपके दिल का ‘Jugraafiya’ बदल सकता हैl दरअसल इस गाने के बोल को भूगोल के अंग्रेजी शब्द जियोग्राफी से लेकर नए अंदाज में बनाकर जुगराफिया कर दिया हैlइस गाने में ऋतिक रोशन और Mrunal Thakur की क्यूट लव स्टोरी को दर्शाया गया हैl इसमें ऋतिक रोशन की फ़िल्मी गरीबी और मृणाल ठाकुर की अमीरी को भी दर्शाया गया हैl गौरतलब है कि यह फिल्म इस वर्ष की बहु प्रतीक्षित फिल्मों में से एक हैl इस फिल्म को लेकर पहले से ही दर्शकों में उत्साह हैl इस फिल्म में ऋतिक रोशन ने बिहार के प्रतिभाशाली गणितज्ञ आनंद कुमार की भूमिका निभाई हैlयह भी पढ़ें: Happy Fathers Day 2019: Ranveer Singh ने पिता की तस्वीर शेयर कर अपने फैशन से जुड़ा खोला ये बड़ा राजइस फिल्म में Mrunal Thakur की भी अहम भूमिका हैl मृणाल लोकप्रिय धारावाहिक Kumkum Bhagya से चर्चा में आईं थींl जिसमें उन्होंने बुलबुल की भूमिका निभाई थीl इस गाने में ऋतिक मृणाल को डांस करते हुए देखते हैl इसके बाद दोनों की लव स्टोरी को दिखाया गया हैl इस गाने में ऋतिक को मृणाल के पिता से भी मिलते हुते देखा जा सकता हैंl इस गाने को Udit Narayan और Shreya Ghoshal ने गाया हैl यह फिल्म 12 जुलाई को रिलीज होगीlLet your heart do all the talking! Play #Jugraafiya on your favourite audio streaming platform. #Super30 pic.twitter.com/9mI502h3SK — Hrithik Roshan (@iHrithik) June 15, 2019इस फिल्म का निर्देशन विकास बहल ने किया हैl इस फिल्म की शूटिंग के बाद Vikas Bahl का नाम #MeToo अभियान में आ गया थाl जिसके बाद इस फिल्म के पोस्ट प्रोडक्शन का काम Anurag Kashyap ने संभाला थाl अब विकास बहल को इस मामले में एक कमेटी ने क्लीन चिट दे दी हैंlलोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Rupesh Kumar

June 16, 2019 05:42 UTC


ICC World Cup India vs Pakistan: जब रात भर सो नहीं पाए थे कोहली, सता रहा था करियर खत्म होने का डर!

ICC World Cup India vs Pakistan: जब रात भर सो नहीं पाए थे कोहली, सता रहा था करियर खत्म होने का डर! नई दिल्ली, जेएनएन। ICC World Cup India vs Pakistan: टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली इस वक्त दुनिया के सबसे महान बल्लेबाजों में से एक हैं। लेकिन एक समय ऐसा भी था जब उन्हें लगा कि उनका करियर खत्म हो गया। आज से 10 साल पहले पाक के खिलाफ हाई-प्रेशर मुकाबले में कोहली का प्रदर्शन बेहद खराब था।कोहली से पूछा गया कि भारत-पाक मुकाबले का सबसे दबाव भरा और सबसे मजेदार लम्हा अगर उन्हें याद आता हो। कोहली ने कहा, पाकिस्तान के खिलाफ 2009 की चैंपियन ट्रॉफी मेरे लिए सबसे दबाव भरा लम्हा था। मैं क्रीज पर आया और बेहद खराब शॉट खेला। उसके बाद मैं रात भर सो नहीं पाया, मुझे लगा मेरा करियर खत्म। वहीं, सबसे मजेदार पल था 2011 का वर्ल्ड कप सेमीफाइनल मुकाबला, मैं नॉन-स्ट्राइकर एंड पर खड़ा था और मैंने वहाब रियाज और शाहिद अफरीदी की बातचीत सुन ली थी। वो बात मैं यहां नहीं बता सकता।"जब दबाव में आ गए थे कोहलीभारत और पाकिस्तान के मुकाबले क्रिकेटर्स का करियर बनाते हैं या तो खत्म कर देते हैं। सेन्चूरियन में हुए पाक के खिलाफ मैच में कोहली एक खराब शॉट खेलकर 16 रन बनाकर आउट हो गए थे। भारत वह मैच 54 रन से हार गया था।ICC WC 2019 Ind vs Pak: सावधान कोहली! ये खिलाड़ी तोड़ सकता है भारत के जीत का सपनापाकिस्तान ने शोएब मलिक की 128 रन और मोहम्मद युसुफ की 87 रनों की पारी की मदद से भारत के सामने 302 रनों का स्कोर रखा था। जवाब में भारत 248 रन पर ऑलआउट हो गया। मैच में राहुल द्रविड़ (76 रन) और गंभीर (57 रन) के अलावा कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर टिक नहीं पाया था।What are @imVkohli's top memories of playing against Pakistan? Hear it from the Indian captain himself!#TeamIndia #CWC19 pic.twitter.com/GfcpJEn8Yr — Cricket World Cup (@cricketworldcup) June 16, 2019विराट कोहली को उस वक्त चोटिल युवराज सिंह की जगह टीम में शामिल किया गया था। विराट का एक खराब शॉट और उन्हें 16 रन की पारी के बाद ही वापस पवेलियन लौटना पड़ा। जिसके बाद उन्हें सारी रात नींद नहीं आई थी, क्योंकि उन्हें लगा कि उनका करियर यहीं खत्म हो गया।इसके अलावा आप वर्ल्ड कप से जुड़े लाइव अपडेट और रोचक खबरें dainikjagran.com पर पढ़ सकते हैं।शुरू हो गया है क्रिकेट क्विज कॉन्टेस्ट जागरण ऐप पर। रोज जीत सकते हैं स्मार्ट फोन। आज से ही हिस्सा लें। डाउनलोड करें जागरण ऐप।Andrioid फोन पर डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें।Iphone पर डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें।लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Ruhee Parvez

June 16, 2019 05:13 UTC


ICC World Cup 2019 Ind vs Pak: महामुकाबले में टीम इंडिया की नजरें सातवें ‘आसमान’ पर

अभिषेक त्रिपाठी, मैनचेस्टर। इस समय दुनिया में सिर्फ मैनचेस्टर ही ऐसा शहर है, जहां सब आसमान की ओर निहार रहे हैं। और जो इस शहर में नहीं हैं, वे अखबार, टेलीविजन और इंटरनेट सहित अपने सभी स्त्रोतों से पता करने में जुटे हैं कि मैनचेस्टर में रविवार को बारिश होगी या नहीं। आखिर ऐसा हो भी क्यों नहीं, यहां के ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर भारत-पाकिस्तान के बीच विश्व कप का सबसे बड़ा मुकाबला जो खेला जाना है। ऐसे सभी लोगों से मैं सिर्फ यही कहना चाहूंगा कि अगर मौसम विभाग की मानें तो आसमान में घुमड़ते बादल आपकी उम्मीदों को कुछ हद तक गीला करेंगे, लेकिन मैच होने की पूरी संभावना है। अगर थोड़ी बहुत बारिश होती है तो ओवरों की संख्या में कटौती की जा सकती है। इस सबके बीच विराट एंड कंपनी की नजरें पाक को विश्व कप में लगातार सातवीं बार हराकर सातवें आसमान पर पहुंचने पर हैं।आम मुकाबला नहीं यहकप्तान विराट कोहली ने मैच से पहले कहा कि हम अन्य मैच की तरह ही इसमें भी खेलेंगे, लेकिन सबको पता है यह आम मुकाबला नहीं है। दो साल पहले ओवल स्टेडियम में चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाक ने भारत को हराया था। उसके बाद भी विराट ने यही कहा था कि यह एक मैच था, जिसमें उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया और हम हार गए। लेकिन मैदान से निकलते ही भारतीय प्रशंसकों को लूजर-लूजर के नारे ङोलने पड़े थे। इसलिए कोई शक नहीं कि रविवार को जब यहां भारत-पाकिस्तान के प्रशंसक जुटेंगे तो 14 डिग्री सेल्सियस तापमान के बावजूद फिजाएं गर्म होंगी और उसका ताप दोनों देशों के सुदूर गांवों तक महसूस किया जाएगा।पाकिस्तान पर लगातार सातवीं जीत की आस131 वनडे में भारत ने 54, पाक ने 73 जीते। चार बेनतीजा6 बार विश्व कप में मुकाबला। सभी मैच भारत ने जीते5 मैच इंग्लैंड में खेले गए, तीन भारत और दो पाक ने जीते1 मैच मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में हुआ, भारत विजयीभारतीय टीम है मजबूतइसमें कोई शक नहीं कि टीम इंडिया, पाक के मुकाबले काफी मजबूत है। विराट सेना दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया को हराकर आई है, जबकि सरफराज अहमद की टीम को वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि उसने दुनिया की नंबर-1 इंग्लिश टीम को पराजित किया है। दोनों टीमों का एक-एक मैच बारिश के कारण नहीं हुआ। तटस्थ होकर दोनों टीमों का आकलन करूं तो कह सकता हूं कि मैच में भारत की जीत की संभावनाएं ज्यादा हैं। तो आप अपनी सीट की बेल्ट बांध लें, टेलीविजन और केबल कनेक्शन चेक कर लें, खाने का इंतजाम कर लें और महामुकाबले में भारत का समर्थन करने के लिए तैयार हो जाएं।लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Manish Pandey

June 16, 2019 04:34 UTC


Tags
Cryptocurrency      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care       VMware

Loading...