Essar lenders seek dismissal of two applications against ArcelorMittal

MUMBAI: The committee of creditors in the Essar Steel bankruptcy case has sought the dismissal of two applications that could potentially delay debt resolution at the stressed steelmaker, for which ArcelorMittal has been chosen the winner by the lenders.The interlocutory application, moved before NCLT Ahmedabad in this case, is generally used to seek urgent relief, or to bring fresh facts to the court’s knowledge.The committee has also sought day-to-day hearing of other such applications, filed by operational creditors. A group of 30 vendors, who had supplied goods and services to Essar, came together to petition the NCLT’s Ahmedabad chapter asking for their dues worth more than Rs 600 crore. These dues are not promised to be repaid in the ArcelorMittal plan.“….The application filed by the resolution professional of GPI Textiles is not maintainable,” the committee of creditors said in its submission before NCLT, citing a Supreme Court judgement. The committee is represented by law firm Shardul Amarchand Mangaldas.ArcelorMittal’s expected acquisition of Essar Steel could face a further challenge over unpaid dues at GPI Textiles, a company promoted by LN Mittal’s brothers Pramod and Vinod Mittal, ET had reported on November 2.The Insolvency and Bankruptcy Code ( IBC ) stipulates that promoters of defaulting companies and people “connected” to them are barred from participating in bids for stressed assets.“The contention that Arcelor is obliged to clear the amounts overdue from GPI Textiles is contrary to the… SC Judgement…and, therefore, ought to be rejected…,” CoC said in the application. The plan promised Rs 42,000 crore to creditors on outstanding debt of Rs 49,000 crore as well as an additional Rs 8,000 crore infusion in the company, taking the total offer to Rs 50,000 crore.However, hours later, the Essar Steel promoters made a Rs 54,000-crore counter offer that seeks to pay back all creditors in full.“It is expedient that all the concerned parties are issued direction to complete pleadings in an expeditious and time-bound manner so that the Plan Application and other related aspects/objections with respect to maintainable applications are heard expeditiously on a day to day basis,” the application said.The GPI Textiles and Essar Steel approval plans will be heard on November 28 by the NCLT.

November 16, 2018 17:03 UTC


राजस्थान / पूर्व मंत्री रामकिशोर सैनी भाजपा में शामिल, नाराज कार्यकर्ता ने प्रदेश ऑफिस में की खुदकुशी की कोशिश

Dainik Bhaskar Nov 16, 2018, 09:41 PM ISTजयपुर. राजस्थान में विधानसभा चुनावों के पहले ऐन मौके पर राजनीतिक नेताओं के दल बदलने की प्रक्रिया जारी है। इसी बीच शुक्रवार को कांग्रेस की सरकार में मंत्री रह चुके रामकिशोर सैनी ने भाजपा का दामन थाम लिया। रामकिशोर सैनी के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने से आहत हुए एक भाजपा कार्यकर्ता ने भाजपा के जयपुर स्थित प्रदेश कार्यालय में पेड़ पर चढ़कर कपड़े से गले में फंदा लगा लिया और लटककर खुदकुशी का प्रयास किया।जानकारी के अनुसार खुदकुशी करने का प्रयास करने वाले युवक का नाम लोकेश सोनी है। वह दौसा जिले के बांदीकुई कस्बे का रहने वाला है। बताया जा रहा है कि अशोक गहलाेत सरकार में मंत्री रह चुके दौसा के रामकिशोर सैनी ने शुक्रवार को भाजपा ज्वाइन कर ली।रामकिशोर के भाजपा में शामिल होने की खबर भनक लगने पर दौसा जिले से भाजपा कार्यकर्ता इसका विरोध दर्ज करवाने पार्टी के प्रदेश कार्यालय पहुंच गए। लेकिन किसी ने उनकी नहीं सुनी। इसी बीच शाम को प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी ने रामकिशोर को भाजपा में शामिल करने की औपचारिकता पूरी की।इससे आहत होकर प्रदेश कार्यालय परिसर में मौजूद दौसा जिले के कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरु कर दिया। इसी बीच लोकेश सैनी आवेश में आकर नजदीक एक पेड़ पर चढ़ गया। वह आत्महत्या की बातें कर रहा था। यह देखकर उसके साथी चिल्लाने लगे और उसे नीचे आने की गुहार करने लगे।तब तक लोकेश ने चंद मिनटों में अपने कपड़े को पेड़ पर बांधकर गले में फंदा लगाया और लटक गया। इसी बीच दो-तीन अन्य कार्यकर्ता भी तत्काल पेड़ पर चढ़े और लोकेश को कसकर पकड़ लिया। इसके बाद उसे नीचे उतारकर ले आए।भाजपा कार्यालय में खुदकुशी के प्रयास की खबर फैलने पर हड़कंप मच गया।

November 16, 2018 16:07 UTC


दिल्ली / 13 दिन बंद रहेगा आईजीआई एयरपोर्ट का एक रनवे, 86% तक बढ़ा फ्लाइट्स का किराया

Dainik Bhaskar Nov 17, 2018, 03:12 AM ISTनई दिल्ली. इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट का एक रनवे मरम्मत के लिए 13 दिन बंद रहेगा। इसके चलते सभी फ्लाइट्स का किराया औसत 86% तक बढ़ गया है। माना जा रहा है कि बढ़ी कीमतों का असर अगले हफ्ते भी रहेगा। वहीं, इसका खमियाजा दिल्ली से उड़ान भरने वाले और दिल्ली आने वाले दोनों तरह के यात्रियों पर पड़ेगा।इक्जिगो के सीईओ और को-फाउंडर अलोके बाजपेयी के मुताबिक, शुक्रवार शाम कई ट्रैवल पोर्टल पर हवाई किराया बढ़ा दिया गया। हर वीकएंड पर दिल्ली-बेंगलुरु का किराया 11,044 रुपए होता है, जबकि शनिवार को औसत हवाई किराया 13,072 हो गया है। वहीं, दिल्ली से मुंबई का एक तरफ का किराया 11,060 रुपए हो गया, जबकि आम दिनों में यह 9,228 रुपए होता है।बाजपेयी ने बताया कि अगले 13 दिन में दिल्ली से बेंगलुरु जाने वाली उड़ानों के किराए में 122% तक की बढ़ोतरी हो सकती है। वहीं, हैदराबाद के हवाई टिकट में 57% तक का इजाफा हो सकता है। वेबसाइट की मानें तो एक रनवे बंद होने से अगले एक हफ्ते तक (खासतौर पर 16 से 19 नवंबर) दिल्ली से मुंबई, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोलकाता, चेन्नई समेत अन्य जगह जाने वाली फ्लाइट्स का किराया बढ़ा रहेगा।इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (आईजीआईए) के अधिकारियों ने बताया कि रनवे 27/09 को मरम्मत के लिए 13 दिन तक बंद रखा जाएगा। इसके बंद होने का फर्क अराइवल-डिपार्चर की 50-50 फ्लाइट्स पर पड़ेगा। एयरपोर्ट के अधिकारियों के मुताबिक, रनवे बंद करने से पहले ही एयरलाइंस को इसकी जानकारी दे दी गई थी। आईजीआईए से 2017-18 के दौरान 63.5 मिलियन यात्री सफर कर चुके हैं। यहां रोजाना करीब 1300 फ्लाइट्स की आवाजाही रहती है।16 नवंबर को दिल्ली से जाने का किराया डेस्टिनेशन किराया (रुपए में) मुंबई 19-30 हजार कोलकाता 10-20 हजार हैदराबाद 6-13 हजार बेंगलुरु 15-28 हजार चेन्नई 6-11 हजार

November 16, 2018 15:37 UTC


हंगामा / केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के कार्यक्रम के दौरान हुआ हंगामा, गुस्साए लोगों ने लगाए मुर्दाबाद के नारे

सुरक्षाकर्मियों ने किसी तरह मंत्री को वहां से निकालायूनियन के नेताओं पर लगाया था बहकाने का आरोपDainik Bhaskar Nov 16, 2018, 08:08 PM ISTलखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी पहुंचे केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल के एक कार्यक्रम में शुक्रवार को जमकर हंगामा हुआ। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रेल मंत्री ने जैसे ही अपनी बात शुरू की लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया। गुस्साए लोगों ने मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। इस पर भी जब मंत्री जी ने बोलना बंद नहीं किया तो गुस्साए रेलकर्मियों ने वहां लगे गमले फेंकने शुरू कर दिए। इससे वहां भगदड़ मच गई।हालात गंभीर होते देख सुरक्षाकर्मियों ने मंत्री को वहां से बाहर निकालने के लिए कार तक पहुंचाया। लेकिन मुसीबत ने मंत्री का पीछा यहां भी नहीं छोड़ा। नाराज कर्मियों ने रेल मंत्री की कार का शीशा तक तोड़ दिया। बवाल तब हुआ जब अधिवेशन में संबोधन के दौरान पीयूष गोयल ने कहा कि यूनियन के नेता लोगों को बहका रही है। यह युवाओं को गलत राह पर ले जा रही है। गोयल के इस बयान के बाद वहां हंगामा शुरू हो गया। यूनियन के पदाधिकारियों ने नारेबाजी शुरू कर दी

November 16, 2018 14:39 UTC


गायक टीएम कृष्णा को मिला AAP का साथ, दिल्ली में म्यूजिकल कंसर्ट के लिए किया आमंत्रित

इस संबंध में टीएम कृष्णा ने कहा कि मैं दिल्ली में शनिवार को गाने आ रहा हूं. इससे पहले दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को कर्नाटक संगीत के मशहूर गायक टीएम कृष्णा को 17 नवंबर को दिल्ली में प्रस्तुति देने के दिल्ली सरकार के आमंत्रण की घोषणा की और कहा कि किसी भी कलाकार को प्रस्तुति देने के मौके से इनकार नहीं किया जाना चाहिए. नेहरू पार्क में होने वाले कृष्णा के 17 नवंबर के संगीत समारोह को एएआई द्वारा रद्द किए जाने के बाद आप सरकार बृहस्पतिवार को कृष्णा के एक अन्य समारोह का आयोजन करने के लिए आगे आई.अपने बेबाक विचारों को लेकर वह अक्सर विवादों में रहते हैं. सिसोदिया ने कहा कि उन्होंने कृष्णा को 17 नवंबर को दिल्ली में प्रस्तुति देने के लिए आमंत्रित किया है. मैंने टी एम कृष्णा को 17 नवंबर को दिल्ली के लोगों के लिए प्रस्तुति देने के लिए आमंत्रित किया है.

Source:NDTV

November 16, 2018 14:25 UTC


NCR में जाट, गुर्जर...लिखे वाहनों की धरपकड़ शुरू, अफसर बोले- जात पे न पात पे, चालान मिलेगा हाथ पे

खास बातें नंबर प्लेट पर जाति लिखवाकर चलने वालों पर पुलिस का एक्शन शुरू जाट, गुर्जर, जाटव लिखवाकर चलने वाले वाहन किए जा रहे जब्त पुलिस अफसर ने दी चेतावनी- जात पे न पात पे, चालान मिलेगा हाथ पेनंबर प्लेट और शीशे पर जाति लिखे वाहनों के खिलाफ नोएडा पुलिस ने शुरू की कार्रवाई. उत्तर-प्रदेश की नोएडा पुलिस ने उन वाहनों के खिलाफ अभियान शुरू कर दिया है, जिनके नंबर प्लेट पर जाति लिखी होती है. अब तक पुलिस ने जाटव, गुर्जर लिखे नौ वाहनों के खिलाफ कार्रवाई की है. उन्होंने जाटव और गुर्जर लिखे वाहनों की तस्वीरों के साथ लिखा- जात पे न पात पे, चालान मिलेगा हाथ पे... राहुल श्रीवास्तव ने इस कार्य के लिए नोएडा पुलिस को शाबासी भी दी. @Uppolice से निवेदन है कि जिन गाड़ियों के पीछे शीशे पर भी जाति लिखी हो, उन वाहनों का भी चालान काटा जाए.

Source:NDTV

November 16, 2018 13:54 UTC


Tags
Cryptocurrency      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care

Loading...