खुदकुशी: महिला की 'अजीब' डिमांड ने युवक को मरने पर किया मजबूर, सुसाइड नोट में लिखा- उसकी बात नहीं मानी तो जिंदगी बर्बाद कर देगी

परभणी (महाराष्ट्र). लगातार सेक्स की डिमांड करने वाली महिला से तंग आकर एक युवक ने खुदकुशी कर ली। रविवार को उसका शव घर में पंखे से लटकता हुआ मिला। पुलिस को कमरे से एक पन्ने का सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। जिसमें 'सेक्स की डिमांड' को युवक ने आत्महत्या करने की वजह बताई है।क्या है मामला ? मिली जानकारी के अनुसार, मामला वसमत रोड स्थित ब्रह्मा अपार्टमेंट का है। मृतक का नाम सचिन मिटकारी है। उसने सुसाइड नोट में लिखा है, एक महिला उसका लगतार यौन शोषण कर रही थी। उसकी बार-बार सेक्स की डिमांड से वो परेशान था। उसके मुताबिक, महिला झूठे केस में उसे फंसाने की धमकी देकर उसे ब्लैकमेल कर रही थी। जिससे तंग आकर उसने जान दे दी।सुसाइड नोट में क्या लिखा? युवक ने अपने एक पन्ने के नोट में लिखा है, मैं सचिन नामदेव मिटकरी ये सुसाइड नोट लिख रहा हूं। उस महिला ने मेरा जीवन बर्बाद कर दिया है। वह जानती थी कि मैं शादीशुदा हूं। इसके बावजूद मुझसे लगातार शारीरिक संबंध की डिमांड करती है।- मुझे बार-बार धमकाती है कि अगर मैंने उसकी बात नहीं मानी, तो वो मेरे वैवाहिक जीवन को बर्बाद कर देगी। अगर मैंने उसकी बात नहीं मानी, तो वह मुझे बदनाम कर देगी। इस महिला के एक नहीं, बल्कि कई लड़कों से संबंध हैं। उसने मेरे खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज कराई है। इस वजह से मैं खुदकुशी कर रहा हूं।महिला के खिलाफ केस दर्जपरभणी की मोंढा पुलिस ने महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस महिला की तलाश कर रही है। साथ ही पुलिस उन युवकों से भी पूछताछ करेगी, जिनके नामों के जिक्र सचिन ने अपने सुसाइड नोट में किए हैं।

October 15, 2018 11:26 UTC


सनथ जयसूर्या पर ICC ने लगाए संगीन आरोप, एंटी-करप्‍शन नियम का किया उल्‍लंघन

सनथ जयसूर्या पर ICC ने लगाए संगीन आरोप, एंटी-करप्‍शन नियम का किया उल्‍लंघननई दिल्ली, जेएनएन। श्रीलंका के पूर्व कप्तान सनथ जयसूर्या पर आइसीसी भ्रष्टाचार विरोधी संहिता के तहत आरोप लगाया गया है। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने उन्हें 14 दिन के अंदर जवाब देने को कहा है। इस संबंध में आइसीसी ने एक प्रेस रिलीज़ जारी की है। उसमे बताया कि जयसूर्या पर ये आरोप एंटी-करप्‍शन यूनिट को सहयोग ना करने और जांच में रूकावट डालने की वजह से लगाया गया है।आइसीसी ने कहा है कि जयसूर्या ने उसके दो नियमों का उल्लंघन किया है। आइसीसी ने उन पर अनुच्छेद 2.4.6 और 2.4.7 के उल्लंघन के आरोप लगाए हैं।श्रीलंका की चयनसमिति के पूर्व चैयरनमैन पर 2.4.6 के तहत आरोप है कि उन्होंने एसीयू की जांच में सहयोग नहीं किया। जबकि 2.4.7 के तहत उन पर एसीयू की जांच को बाधित तथा जांच में देरी करने के आरोप लगाए हैं।BREAKING: Sanath Jayasuriya has been charged with two counts of breaching the ICC Anti-Corruption Code. Full details: https://t.co/O4kTg0b1j2 pic.twitter.com/1bJsTg9WTP — ICC (@ICC) October 15, 2018श्रीलंका को 1996 वर्ल्‍ड कप दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले सनथ जयसूर्या ने 110 टेस्‍ट में 6973 रन बनाए, जबकि 445 वनडे में उनके नाम 13430 रन दर्ज हैं। श्री लंका के लिए उन्होंने 31 टी-20 मैच खेले, जिसमें 629 रन बनाए। बतौर गेंदबाज उनके नाम 98 टेस्‍ट, 323 वनडे और 19 टी-20 विकेट हैं।क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद जयसूर्या ने राजनीति में भी हाथ आजमाया और संसद के लिए चुने जाने के बाद मंत्री भी बने। वह 2013 में श्रीलंका क्रिकेट के चयन समिति के अध्यक्ष भी बने लेकिन 2015 में टीम की असफलता के बाद उनका कार्यकाल खत्म हो गया।क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करेंअन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करेंPosted By: Pradeep Sehgal

October 15, 2018 11:06 UTC


आलोक नाथ ने विनता नंदा के खिलाफ किया मानहानि का मुकदमा, मांगा एक रुपया मुआवजा

खास बातें विनता ने आलोक नाथ पर लगाए रेप के आरोप आलोक नाथ ने दर्ज किया केस मांगा है एक रुपया मुआवजाबॉलीवुड और टीवी एक्टर आलोक नाथ (Alok Nath) ने राइटर-प्रोड्यूसर विनता नंदा (Vinta Nanda) के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर कर दिया है. आलोक नाथ ने विनता नंदा से लिखित में माफी मांगने के लिए कहा है और उन्होंने एक रुपया बतौर मुआवजा मांगा है. विनता नंदा ने #MeToo कैंपेन के तहत अपनी आपबीती सुनाई थी और आलोक नाथ की 'संस्कारी' छवि को तार-तार करने का काम किया था. विनता नंदा ने अपनी पोस्ट में आरोप लगाया था कि आलोक नाथ ने उनके साथ रेप किया. विनता ने लिखा था कि आलोक नाथ का व्यवहार इसके बाद और खराब होता चला गया और नंदा और प्रोडक्शन के अन्य सहयोगियों ने अभिनेता को हटाने का मन बना लिया था.

Source:NDTV

October 15, 2018 11:03 UTC


घर से बाहर आकर बोलीं नेहा पेंडसे- मुझे नहीं, श्रीसंथ को बेघर होना चाहिए था

अनूप जलोटा और जसलीन मथारू के ब्रेकअप और शो जीतने के लिए फर्जी रिलेशनशिप का ड्रामा करने की चर्चाओं पर भी विराम लगा दिया।Dainik Bhaskar Oct 15, 2018, 04:35 PM ISTटीवी डेस्क. बिग बॉस-12 के घर से बाहर होने वाली नेहा पेंडसे पहली सेलिब्रिटी हैं।बाहर आने के बाद नेहा ने DainikBhaskar.com से बातचीत की। नेहा ने भड़ास निकालते हुए कहा- 'मुझे नहीं बल्कि श्रीसंथ को बेघर होना चाहिए था'। नेहा के घर से बेघर होने पर सोशल मीडिया पर यूजर्स भी भड़के हुए हैं। सबसे पहले घर से बाहर आने पर नेहा की मां भी उनपर भड़की हुई हैं।इसलिए श्रीसंथ को निकालना था नेहा ने इंटरव्यू में बताया- मैंने कभी सोचा नहीं था कि मैं इतनी जल्दी घर से बेघर हो जाऊंगी। मैं ही नहीं घर में रहने वाले अन्य मेम्बर भी ये सुनकर हैरान रह गए कि बेघर होने वालों में मेरा नाम है जबकि मैं अच्छा खेल रही थी। श्रीसंथ को सबसे कम वोट मिले थे तो उसे एविक्ट होना चाहिए था मुझे नहीं। लेकिन उसे घर में रहने का मौका मिल गया।फेक इमेज दिखानी चाहिए थी नेहा ने बताया- 'मुझे लगता है कि मैं बहुत ज्यादा अग्रेसिव नहीं थी, मैं पर्सनली वैसी लड़की नहीं हूं जो हर बात पर लड़ाई करने लगे। मुझे लगता है कि मेरी अच्छाई ही मेरे खिलाफ चली गई। घर से बाहर आने के बाद मुझे लगा कुछ बातें ऐसी थी जिनके खिलाफ मुझे आवाज उठानी चाहिए थी। लोगों ने मुझ पर कमेंट्स भी किए लेकिन किसी पर ध्यान नहीं दिया। मैंने इस तरह की बातों को अनदेखा कर दिया। लेकिन अब मुझे लगता है कि घर के अंदर बने रहने के लिए मुझे अपनी फेक इमेज दिखानी चाहिए थी'।दीपिका कक्कड़ खेल रही है स्मार्ट गेम नेहा ने कहा- दीपिका घर में बेहतरीन गेम खेल रही है। एक तरफ तो घरवालों की केयर कर रही है वहीं, दूसरी ओर वे ये भी ध्यान रख रही है कि लोग उनके फेवर में रहें। मैंने उस पर बहुत भरोसा किया जो कि मेरी गलती थी। मुझे नहीं पता कि वे अपना असली चेहरा दिखा रही है या फेक। लेकिन हां उसे पता है कि दूसरों की सहानुभूति कैसे ली जाती है।फेक नहीं है अनूप-जसलीन की रिलेशनशप नेहा ने बताया- मुझे नहीं लगा कि अनूप-जसलीन में कोई फेक रिलेशनशिप है। मुझे लगा कि दोनों में प्यार है और दोनों ही मेच्योर हैं। लोग जो उनके रिलेशन पर कमेंट्स कर रहे हैं मैं उससे सहमत नहीं हूं। हालांकि, एक टास्क के दौरान दोनों के बीच ब्रेकअप हो गया था लेकिन ये सब फेक था।कपिल शर्मा के साथ काम करने की इच्छा नेहा ने कहा- कपिल शर्मा के साथ मैंने कुछ महीने पहले काम किया था। लेकिन चीजे कुछ ठीक नहीं बैठ पाई तो शो बंद हो गया। यदि मुझे दोबारा उनके साथ काम करने का मौका मिलेगा तो मैं जरूर करूंगी। वे एक टैलेंटेड आर्टिस्ट हैं।

October 15, 2018 11:03 UTC


राजनीति / व्यापमं कांड में पचास लोगों की हत्या हुई, पूरे मामले में मुख्यमंत्री के परिवार का हाथ : राहुल गांधी

Dainik Bhaskar Oct 15, 2018, 09:18 PM ISTग्वालियर। यहां फूलबाग में आयोजित सभा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मध्य प्रदेश में व्यापमं कांड में पचास लोगों की हत्या हुई। इस पूरे मामले में मुख्यमंत्री के परिवार का हाथ है। प्रदेश में जिन लोगों के पास कभी साइकिल नहीं होती थी आज वे करो़ड़ों रुपए के मालिक है। राहुल ने कहा कि केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनते ही जीएसटी में बदलाव किया जाएगा। दो दिन के दौरे पर आए राहुल गांधी रोड शो के बाद फूल बाग में सभा को संबोधित कर रहे थे।राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा नारा देती है कि बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ। लेकिन जब भाजपा के मंत्री पर प्रताड़ना के आरोप लगते हैं तो सब चुप हैं। यूपी में भाजपा के एमएलए पर दुष्कर्म का आरोप लगता है प्रधीनमंत्री सहित पूरी पार्टी चुप है। राहुल ने कहा कि में कहंगा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं और भाजपा से बेटी बचाओ।ये किया वादा: राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनते ही पहला काम प्रदेश के किसानों का कर्जा माफ किया जाएगा। दूसरा काम कांग्रेस की सरकार ऐसे काम करेगी जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार मिल सके। औऱ जो युवाओं को स्वरोजगार के लिए लोन देंगे। राहुल ने कहा कि हम सिर्फ मेक इन इंडिया की बात नहीं करेंगे हम युवाओं को साथ लेकर इसे करके दिखाएंगे।रफाल पर बोले: राहुल गांधी ने कहा कि अगर रफाल जेट भारत में बनता को देश के कई लोगों को रोजगार मिलता पर प्रधानमंत्री की जिद की वजह से ऐसा नहीं हो पाया। नोटबंदी के समय के हर व्यक्ति की जेब से पैसा निकाला गया। मेहुल, नीरव मोदी ललित मोदी और विजय माल्या देश का ये पैसा लेकर भाग गए। राहुल गांधी ने कहा कि रफाल का सौदा होने से पहले अनिल अंबानी ने दस दिन पहले कंपनी खोली ओर उन्हें रफाल बनाने का ठेका दे दिया। अनिल अंबानी पर 45000 हजार करोड़ का कर्ज है। 10-15 लोगों ने देश का बारह लाख करोड़ रुपए कर्जा ले रखा है। ये लोग कर्ज चुकाने की वजाय देश छोड़कर भाग गए। लेकिन वहीं देश का कोई छोटा कारोबारी कर्जा नहीं चुका पाता तो उसकी कुर्की कर दी जाती है। नरेंद्र मोदी अगर उन भागे लोगों का कर्जा माफ कर सकते हैं तो छोटे लोगों की भी मदद करनी चाहिए।रोड शो से पहले मंदिर में की पूजा: राहुल गांधी ने रोड शो से पहले अचलेश्वर मंदिर में पूजा की। राहुल गांधी के मंदिर में प्रवेश करने के बाद अंदर जा रहे ट्रस्टियों को एसपीजी ने रोक दिया। इसके बाद ट्रस्टियों ने हंगामा कर दिया। कांग्रेस नेताओं की समझाइश के बाद एसपीजी ने ट्रस्टियों की तलाशी ली और अंदर जाने दिया।दतिया से लौटने के बाद राहुल गांधी माधवराव सिंधिया की समाधि पर पहुंचे और उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। उनके साथ कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया भी मौजूद थे। इसके बाद राहुल जयविलास पहुंचे। राहुल गांधी आज रात जयविलास पैलेस में ही रुकेंगे कल भी मुरैना में रोड शो करेंगे।डबरा में राहुल के निशाने पर रहे प्रधानमंत्री: इससे पहले राहुल ने डबरा में एक जनसभा को संबोधित किया। यहां राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखे हमले किए। राहुल ने नोटबंदी का जिक्र करते हुए कहा कि मोदी जी ने आम लोगों को लाइन लगाकर उनका पैसा ले लिया और उसे विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी जैसे लोगों की जेब में डाल दिया।पीताम्बरा पीठ में की पूजा: इससे पहले सोमवार को राहुल सबसे पहले दतिया में पीताम्बरा पीठ पहुंचे। यहां पूजा अर्चना करने के बाद उन्होंने अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत की। इसके बाद उन्होंने दतिया में के जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि एक-दो साल पहले मैं मोदीजी के ऑफिस में गया। उनसे किसानों का कर्जा माफ करने के लिए कहा- उनके मुंह से एक शब्द नहीं निकला। यह भी नहीं कहा कि मैं कोशिश करूंगा।

October 15, 2018 11:01 UTC


September exports down 2.15%, trade gap at 5-month low

NEW DELHI: India’s trade deficit declined to a five-month low in September even as exports contracted, providing some respite from the rising gap that has sparked concern about the current account deficit ( CAD ).The gap between exports and imports , or trade deficit, declined to $13.98 billion in September from $17.39 billion in August following slower growth in imports.Exports were pegged at $27.95 billion in September, down 2.15% from a year ago, while imports rose 10.45% to $41.9 billion, lowest in five months.“Despite this (decline), as well as the measures unveiled so far by the government to curtail non-essential imports, we will not be surprised if the merchandise trade deficit rebounds above $17.5 billion in October 2018,” said Aditi Nayar, principal economist ICRA.India’s CAD is seen at 2.8% of GDP this year against 1.9% last year.The concern over the CAD along with rising US interest rates has caused the rupee to depreciate sharply against the dollar. The weaker rupee is expected to help exports. The government has raised import duties on some items in order to curb non-essential imports.The year-on-year decline in exports was largely due to the base effect of high exports last year in September. Month-on-month September exports were higher than $27.84 billion for August.Calling this phenomenon a temporary one, commerce and industry ministry said September 2017 was “abnormally high growth month” of about 26% in dollar terms due to the imminent cut-off then for drawbacks at pre-GST rates.“The overall exports in September were close to $28 billion, which is the minimum exports we are looking for each month so as to reach the milestone of $350 billion,” said Ganesh Kumar Gupta, president, FIEO.The major commodity groups that showed positive export growth over the corresponding month of last year are petroleum products (26.8%), organic & inorganic chemicals (16.9%), drugs & pharmaceuticals (3.8%), cotton yarn/fabrics/made-ups, handloom products (3.6%) and plastic & linoleum (28.2%).The government said that exporters continue to be resurgent, with their realised incomes having gone up almost 10%.October figures promise to be in line with the ongoing six-month trend, according to the statement. However, there are some risks as well, the government said.“Global recovery is fragile and there is some element of risk from threats such as confrontational trade stances that major countries have taken,” commerce secretary Anup Wadhawan told media persons.EEPC India Chairman Ravi Sehgal said the rupee depreciation has not been of help in so far as the competitiveness of India’s shipments is concerned.“The effort is not to control imports but improve capacity utilisation and promote manufacturing-…we are doing everything within our bound rates,” Wadhawan said on the government’s efforts to control imports in order to curb the current account deficit.

October 15, 2018 10:52 UTC


Tags
Cryptocurrency      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care

Loading...