ममता का मीम शेयर करने वाली प्रियंका शर्मा को ट्विटर पर PM मोदी ने किया फॉलो

ममता का मीम शेयर करने वाली प्रियंका शर्मा को ट्विटर पर PM मोदी ने किया फॉलोनई दिल्ली, जेएनएन। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर मीम शेयर करने वाली भाजपा यूथ विंग की संयोजक प्रियंका शर्मा (Priyanka Sharma) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर फॉलो किया है। पीएम मोदी द्वारा फॉलो किए जाने पर प्रियंका ने आभार जताया है।ट्विटर पर पीएम मोदी को टैग करते हुए प्रियंका शर्मा ने लिखा है कि आपके द्वारा फॉलो किया जाना मेरे लिए सम्मान और गर्व की बात है।This is Big surprise for me, Thank You @narendramodi Ji for Follow Back, Feeling Honoured and Proud. pic.twitter.com/z1G5mF8ljI — Priyanka Sharma (@Priyankabjym) June 17, 2019बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मॉर्फ्ड फोटो (Morphed Picture) सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। टीएमसी के कार्यकरताओं ने प्रियंका शर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसके बाद पुलिस ने भाजपा यूथ विंग की कार्यकर्ता प्रियंका शर्मा को गिरफ्तार कर लिया गया था। गिरफ्तारी के खिलाफ प्रियंका की ओर से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी।सुप्रीम कोर्ट ने प्रियंका शर्मा को जमानत देने से पहले माफी मांगने के लिए कहा था। प्रियंका शर्मा के वकील ने इसका विरोध किया था। उन्‍होंने कहा कि इससे अभिव्यक्ति की आज़ादी पर असर होगा। उन्‍होंने भाजपा नेताओं की भी मजाकिया तस्‍वीरें बनाए जाने का हवाला दिया था।लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Manish Pandey

June 19, 2019 03:11 UTC


Facebook जल्द मार्केट में ला रही अपनी क्रिप्टोकरेंसी, नाम होगा ‘लिब्रा’

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अब फेसबुक अपनी क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में लाने जा रहा है। सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने मंगलवार को बिटक्वाइन जैसी एक नई डिजिटल करेंसी पेश करने की अपनी योजना की घोषणा की। फेसबुक और करीब दो दर्जन साझेदार कंपनियों ने नई करेंसी ‘लिब्रा’ का प्रोटोटाइप पेश किया। जेनेवा में स्थित लिब्रा नाम का एक गैरलाभकारी संगठन ब्लॉकचेन आधारित नई करेंसी की निगरानी करेगा। यही संगठन नई करेंसी के मूल्य के आधार पर दुनिया में चलने वाली वास्तविक मुद्राओं का भंडार रखेगा, ताकि लिब्रा के मूल्य में एक निश्चितता बनी रहे।लिब्रा एसोसिएशन के पॉलिसी एवं कम्युनिकेशंस प्रमुख डेंट डिस्पार्टे ने कहा कि नई डिजिटल करेंसी लिब्रा दुनियाभर में बैंकिंग सुविधा से वंचित लोगों तक ई-कॉमर्स और वित्तीय सेवा की पहुंच उपलब्ध कराएगी। लिब्रा एसोसिएशन ने 28 सदस्यों के साथ काम करना शुरू कर दिया। इन सदस्यों में मास्टरकार्ड, वीसा, स्टिप, किवा, पेपाल, लिफ्ट, उबर और वुमंस वल्र्ड बैंकिंग भी शामिल हैं। फेसबुक भी संगठन का एक सदस्य है, लेकिन वह अलग से एक डिजिटल वॉलेट कैलिब्रा भी बना रही है।लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Pawan Jayaswal

June 19, 2019 03:07 UTC


लेडीज इनरवेयर पहने हुए अवैध पुतले रखने वाली दुकानों का लाइसेंस हो सकता है कैंसल, शिवसेना ने दी चेतावनी

महात्रे के मुताबिक अगर कोई दोषी पाया जाता है तो उसका लाइसेंस कैंसल किया जा सकता है. महात्रे ने कहा, 'मैंने अधिकारियों को सख्त कार्रवाई करने के लिए कहा है, अगर जरूरत पड़ी तो लाइसेंस भी कैंसल किया जा सकता है.' ऐसा लगता है कि बीएमसी के पास उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की कोई शक्ति नहीं है जो अवैध पुतले रखते हैं.' जबकि लेडीज इनरवेअर का विज्ञापन करने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि लेडीज को पता है कि उन्हें यह कहां से खरीदना है.' तब प्रशासन ने कहा था कि एमएमसी एक्ट में इस तरह का कोई प्रावधान नहीं है.

Source:NDTV

June 19, 2019 03:06 UTC


Road Traffic awareness: Delhi Policemen compose rap song on lines of ‘Apna time aayega’, purchased and distributed 700 h

सड़क हादसे में पत्नी की मौत हुई, लोगों को ट्रैफिक नियम बताने के लिए रैप सॉन्ग तैयार कियासॉन्ग के बोल- सीट बेल्ट बांध, बात मेरी मान, सुरक्षा को जान, तेरा टाइम आएगादिल्ली पुलिस के ट्रैफिक हेड कॉन्स्टेबल संदीप शाही का वीडियो वायरल हो रहाDainik Bhaskar Jun 19, 2019, 11:37 AM ISTनई दिल्ली. सड़क सुरक्षा के नियमों के प्रति जागरूक करने वाले दिल्ली के एक ट्रैफिक पुलिस हेड कॉन्स्टेबल का वीडियो वायरल हो रहा है। पुलिसकर्मी संदीप शाही, रणवीर सिंह की फिल्म गली बॉय के रैप सॉन्ग 'अपना टाइम आएगा' की तर्ज पर युवाओं को ट्रैफिक नियमों के हिसाब से चलने की सीख देते नजर आते हैं। इतना ही नहीं वे ड्यूटी के दौरान बिना हेलमेट वाले बाइक सवारों को शीशे में उनका चेहरा भी दिखाते हैं। अपनी जेब से 700 हेलमेट खरीदकर लोगों को बांट चुके हैं।शाही के रैप सॉन्ग को ट्विटर समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेफॉर्म पर काफी सराहा जा रहा है। उन्होंने खुद यह रैप सॉन्ग तैयार किया है, जिसमें वह कहते हैं- ''हमसे न हो पाएगा, कौन बोला? सड़क की, सुरक्षा की, जीवन की रक्षा की, हेलमेट की, सीट बेल्ट के नियम अगर अपनाएगा, जीवन खुशहाल बन जाएगा। बात मेरी मान, सुरक्षा को जान। तेरा टाइम आएगा, जय हिंद, जय भारत।''हादसे में पत्नी की मौत के बाद सॉन्ग तैयार कियाशाही कुछ साल पहले सड़क हादसे में पत्नी को खो चुके हैं। उन्होंने न्यूज एजेंसी से कहा, ‘‘मुझे अपने रैप सॉन्ग के वायरल होने के बारे में पता चला है। लोग ट्रैफिक नियमों के प्रति काफी लापरवाही दिखाते हैं। मेरी जिम्मेदारी है कि उन्हें नियमों के पालन करने के लिए जागरूक करूं। पत्नी की मौत के बाद काफी दुखी था। इसलिए युवाओं के लिए रैप सॉन्ग तैयार किया।’’

June 19, 2019 03:05 UTC


संसद में शपथ के बाद SP सांसद बोले- संविधान जिंदाबाद, पर वंदे मातरम नहीं बोलूंगा, क्योंकि...

मंगलवार को संसद में करीब-करीब हर सांसद ने अपनी शपथ के बाद अलग-अलग नारे लगाए. इन नारों में जय श्री राम, जय मां दुर्गा, अल्लाह-हू-अकबर, राधे राधे, भारत माता की जय में शामिल हैं. हैदराबाद के सांसद जैसे ही शपथ लेने के लिए अध्यक्ष के आसन के समक्ष गए, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लगभग सभी सांसद 'जय श्रीराम', 'वंदे मातरम्', 'भारत माता की जय' के नारे लगाने लगे. VIDEO: असदुद्दीन ओवैसी की शपथ के दौरान संसद में लगे 'जय श्रीराम' के नारे, AIMIM सांसद बोले- काश...अधिकांश भाजपा सांसदों ने शपथ ग्रहण के समय 'जय श्रीराम', 'भारत माता की जय' के नारे लगाए. तृणमूल की काकोली घोष ने भाजपा सांसदों के नारों पर पलटकर 'जय हिंद' और 'जय बंगाल' का नारा लगाया.

Source:NDTV

June 19, 2019 02:52 UTC


बिहार में बुखार से बच्चों की मौत पर ओडिशा तक हड़कंप, लीची के नमूनों की होगी जांच

भुवनेश्वर, एएनआइ। बिहार में एक्यूट इंसफलाइटिस सिंड्रोम(AES)या आम भाषा में चमकी बुखार के कारण हाहाकार मचा हुआ है। चमकी बुखार की वजह से बिहार के मुजफ्फरपुर में अबतक 112 बच्चों की मौत हो चुकी है। मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसफलाइटिस सिंड्रोम(AES) के फैलने के पीछे एक वजह बच्चों का लीची खाना बताया जा रहा है।मेडिकल विशेषज्ञों और साथ ही राज्य सरकार के मंत्रियों का भी मानना है कि बच्चों की मौत के पीछे लीची खाना एक वजह हो सकता है।बिहार और देश के अन्य उन भागों में एक्यूट इंसफलाइटिस सिंड्रोम(AES) फैल रहा है, इन सभी इलाकों में लीची बहुतायत में पाई जाती है।इसको देखते हुए ओडिशा सरकार भी अलर्ट पर आ गई है। ओडिशा सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग ने खाद्य सुरक्षा आयुक्त को खास निर्देश जारी किए हैं। इसमें लीची में विषाक्त सामग्री का पता लगाने के लिए बाजार में बेची जा रही लीची के नमूने एकत्र करने और उसका परीक्षण करने के निर्देश दिए गए हैं। लीची के बीज में मेथाईलीन प्रोपाइड ग्लाईसीन (एमसीपीजी) होता है। इसी केमिकल को बिहार में बच्चों की मौत के लिए ज़िम्मेदार माना जा रहा है।मुजफ्फरपुर है 'लीची का कटोरा'बिहार में एक्यूट इंसफलाइटिस सिंड्रोम(AES) से बच्चों की मौत के पीछे लीची को कारण बताने के पीछे कई वजहें हैं। मुजफ्फरपुर में इस बुखार का सबसे ज्यादा असर है। मुजफ्फरपुर को लीची का कटोरा कहा जाता है। पूरे देश में लीची की ज्यादातर आपूर्ति इसी इलाके से की जाती है। गृह मंत्रालय के डाटा के मुताबिक बिहार में 2017 में तीन लाख मीट्रिक टन लीची की पैदावर हुई थी।क्या हैं एक्यूट इंसफलाइटिस सिंड्रोम (AES) के लक्षण ? ये एक संक्रामक बीमारी है। इस बीमारी के वायरस शरीर में पहुंचते ही खून में मिल जाते हैं और तेजी से शरीर में इन वायरस की संख्या बढ़ने लगती है। शरीर में इस वायरस की संख्या बढ़ने पर ये खून में मिलकर मस्तिष्क तक पहुंच जाते हैं। मस्तिष्क में पहुंचने पर ये वायरस कोशिकाओं में सूजन पैदा कर देते हैं, जिस कारण शरीर का 'सेंट्रल नर्वस सिस्टम' खराब हो जाता है। इस बीमारी में बच्चे को लगातार तेज बुखार चढ़ा रहता है। बच्चे के शरीर में हमेशा दर्द रहता है।लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Shashankp

June 19, 2019 02:49 UTC


Tags
Cryptocurrency      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care       VMware

Loading...