राजस्थान / केंद्र मंत्री निर्मला सीतारमण से मिले सीएम गहलोत, 5473 करोड़ की पेयजल परियोजनाओं को मंजूरी देने की मांग

Dainik Bhaskar Jun 15, 2019, 02:53 PM ISTराज्य के मुख्य सचिव डी.बी.गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त निरंजन कुमार आर्य भी बैठक में मौजूद रहेनई दिल्ली/जयपुर. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को नई दिल्ली में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने प्रदेश के विभिन्न वित्तीय मामलों पर चर्चा की। उन्होंने विभिन्न पेयजल परियोजनाओं के वित्तीय प्रस्तावों को अनुमति देने तथा राज्यहित में केंद्रीय योजनाओं की राशि समय पर जारी करने का आग्रह किया।मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय करों में राज्य का हिस्सा पहले की तरह हर माह की पहली तारीख को दिया जाए। साथ ही केंद्र सरकार ने पिछले कुछ सालों में इस व्यवस्था को बदल दिया है, इससे राज्यों को वित्तीय व्यवस्था में परेशानी आ रही है। राज्य को महीने के पहले दिवस पर वेतन एवं पेंशन का भुगतान करना होता है, लेकिन केंद्र से मिलने वाले राज्य के हिस्से में देरी के कारण वेतन एवं पेंशन के समय पर भुगतान में कठिनाई होती है।5473 करोड़ की पेयजल परियोजनाओं के प्रस्तावों को जल्द दें मंजूरीमुख्यमंत्री ने वित्त मंत्री से करीब 5473 करोड़ रुपए की लागत की सात पेयजल परियोजनाओं के वित्तीय प्रस्तावों को शीघ्र अनुमति प्रदान किए जाने का आग्रह किया। उन्होंने राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल परियोजना के तृतीय चरण के लिए 1450 करोड़ रूपए की बाह्य वित्त पोषण सहायता प्राप्त करने के प्रस्ताव को मंजूरी देने की मांग की। इस योजना से जोधपुर, बाडमेर व पाली के 2014 गांवों तथा 5 कस्बों को वर्ष 2051 तक जल आपूर्ति की जा सकेगी।गहलोत ने कहा कि राजस्थान के विभिन्न जिलों में पेयजल के लिए जापान की सहयोग एजेंसी जायका से ऋण लेने के लिए कई योजनाएं प्रस्तावित हैं। इनके प्रस्ताव केन्द्रीय पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय तथा शहरी विकास मंत्रालय के पास लंबित हैं। उन्होंने बताया कि कुम्भाराम लिफ्ट नहर से झुंझुनूं के सूरजगढ़ कस्बे और 190 गांवों तथा 59 ढाणियों के लिए करीब 718 करोड़ रुपये की योजना बनाई गई है। इसी प्रकार झुंझुनूं के उदयपुरवाटी कस्बे तथा 94 गांवों और 504 ढाणियों के लिए करीब 612 करोड़ रुपये, बाड़मेर जिले के चौहटन में 188 गांवों के लिए करीब 498 करोड़ रुपये, बाड़मेर के ही गुढामालानी में 308 गांवों के लिए करीब 528 करोड़ रुपये और चौहटन तथा गुढामालानी के 141 गांवों के लिए करीब 562 करोड़ रुपये की योजनाएं प्रस्तावित हैं। जयपुर शहर के लिए बीसलपुर परियोजना के दूसरे चरण के लिए करीब 1104 करोड़ रुपये की योजना का प्रस्ताव भी शहरी विकास मंत्रालय के पास विचाराधीन है। उन्होंने इन परियोजनों के लिए केंद्रीय वित्त मंत्री से सहयोग का आग्रह किया।कृषि ऋण माफी की क्रियान्विति में मदद करे केंद्रमुख्यमंत्री ने केंद्रीय वित्त मंत्री से राज्य में किसानों को वित्तीय संकट से उबारने के लिए की गई कर्ज माफी योजना के लिए केंद्र से अपेक्षित सहयोग मांगा। उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार ने सहकारी बैंकों के करीब 24 लाख किसानों के फसली ऋण माफ किए हैं, जिनसे राज्य सरकार पर 15 हजार 679 करोड़ रुपए से अधिक का वित्तीय भार आया है। इसके साथ ही राष्ट्रीयकृत बैंकों, अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों से फसली ऋण लेने वाले किसानों के एनपीए श्रेणी के फसली ऋणों को 2 लाख रुपए की सीमा तक राज्य सरकार माफ कर रही है। चूंकि वित्तीय संस्थाएं भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में हैं, ऐसे में बैंकों के साथ ऋण माफी के लिए एकमुश्त समझौते के निर्धारण में केंद्र सहयोग करे।राज्यों के लिए बाजार ऋण लेने की प्रक्रिया को स्थायी बनाएंगहलोत ने कहा कि राज्य में विकास योजनाएं समय पर पूरी हों और उनके लिए धन की कमी नहीं हो, इसके लिए राज्य सकल घरेलू उत्पाद (जीएसडीपी) का 3 प्रतिशत के स्थान पर 4 प्रतिशत तक शुद्ध ़ऋण लेने की अनुमति प्रदान की जाए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार राज्यों के लिए बाजार ऋण लेने की निर्धारित प्रक्रिया को स्थायी बनाए। इसके साथ ही वित्त वर्ष 2019-20 में बाजार ऋण के लिए निर्धारित सीमा 36 हजार 161 करोड़ रुपए की तुलना में केंद्र सरकार ने केवल 7 हजार 495 करोड़ रुपए का बाजार ऋण लेने की ही स्वीकृति प्रदान की है, जो राज्य की विकास परियोजनाओं को दृष्टिगत रखते हुए नाकाफी है। गहलोत ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा ऋण लेने की सहमति प्रदान नहीं किए जाने से राज्य के विकास प्रभावित हो रहे हैं।इस अवसर पर राज्य के मुख्य सचिव डी.बी.गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त निरंजन कुमार आर्य, प्रमुख सचिव आयोजना अभय कुमार एवं संयुक्त सचिव राजन विशाल भी बैठक में मौजूद थे।कंटेंट/फोटो- प्रेम प्रताप

June 15, 2019 09:11 UTC


मौसम / प्री-मानसून में राहत की बूंदों ने मध्यप्रदेश और राजस्थान को गर्मी से दिलाई निजात, कई जिलों में अलर्ट

Dainik Bhaskar Jun 15, 2019, 07:47 PM ISTसुबह से चटक धूप निकली, दोपहर में मौसम ने करवट बदलीभोपाल शहर में दो घंटे में 8.8 मिमी बारिश, अन्य क्षेत्रों में भी प्री-मानसून की बारिशराजस्थान में बारिश से मौसम में घुली ठंडक, तापमान 4 डिग्री तक गिराभोपाल/ जयपुर. पिछले दो दिनों में मौसम ने करवट बदली है। मध्यप्रदेश और राजस्थान के कई शहरों में दूसरे दिन शनिवार को भी तेज बारिश हुई। रविवार को भी ज्यादातर इलाकों में गरज और हवा के साथ प्री-मानसून की बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने राजस्थान के कई जिलों में अलर्ट जारी किया है।मध्यप्रदेश के कई शहरों में बारिशशनिवार को भोपाल में दोपहर करीब 1.45 बजे एमपी नगर, अरेरा हिल्स, रोशनपुरा, न्यू मार्केट समेत भेल टाउनशिप के कुछ इलाकों में बारिश हुई। इसमें भोपाल शहर में 8.8, भोपाल में 5.7, मंडला 8.0 मिमी, 2.0 मिमी, सागर 3.0 और जबलपुर में 1.0 मिमी बारिश दर्ज की गई। इससे पहले शहर में सुबह से चटक धूप रही। सुबह 11.30 बजे पारा 35.2 डिग्री पर पहुंच गया था। उमस से लोग बेहाल थे।दोपहर बाद बादल छाए और बारिश होने लगी। मध्यप्रदेश के रतलाम, सतना, देपालपुर, राजगढ़, सहलाना, रहली, दमोह, बैतूल, टीकमगढ़, शिवपुरी, सिंगरौली समेत कई शहरों में तेज हवा के साथ बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिक एके शुक्ला ने बताया कि अरब सागर से आ रही नमी के कारण प्रदेश में प्री-मानसून गतिविधियों में इजाफा हुआ है।राजस्थान: बारिश से गर्मी के तेवर नर्म, जयपुर समेत कई जिलों में बारिशराजस्थान में गर्मी के तेवर थोड़े कम हुए हैं। शनिवार को जयपुर, कोटा, अजमेर, बूंदी, बारां, भीलवाड़ा, सवाईमाधोपुर समेत कई शहरों में तेज बारिश हुई। इससे पहले शुक्रवार को भी प्रदेश में प्री-मानसून की बारिश हुई। कई जिलों में शुक्रवार रात मौसम बदला और हल्की बारिश हुई। मौसम विभाग ने राजस्थान में 40 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलने और धूल भरी आंधी के साथ बरसात की चेतावनी जारी की है।पूर्वी राजस्थान के अजमेर, बांसवाड़ा, भरतपुर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, जयपुर, झुंझुंनूं, प्रतापगढ़, राजसमंद, सिरोही, उदयपुर और पश्चिमी राजस्थान के बाड़मेर, बीकानेर, चूझ, हनुमानगढ़, जैसलमेर, जालौर, जेधपुर, नागौर, पाली व श्रीगंगानगर में पांच दिन यानी बुधवार तक धूल भरी आंधी और बादल गरजने की चेतावनी जारी की है।कई जिलों में रविवार से तीन दिनों तक सतर्क रहने की हिदायतअजमेर, डूंगरपुर, सिरोही, टोंक, उदयपुर में रविवार और सोमवार को सतर्क रहने की हिदायत दी है। अलवर, बारां, झालावाड़, कोटा, सवाईमाधोपुर में रविवार से यह चेतावनी है। करौली में मंगलवार को आंधी-बादल गरजने की चेतावनी है। जैसलमेर, जालौर, जोधपुर में रविवार, सोमवार, मंगलवार को और जोधपुर, नागौर, पाली, श्रीगंगानगर में रविवार से सोमवार को इस मौसम से सतर्क रहने की हिदायत दी गई है।शुक्रवार को बारिश से 4 डिग्री तक तापमान गिराशुक्रवार रात में अधिकांश शहरों के तापमान में चार डिग्री तक की गिरावट आई है। राज्य में शुक्रवार रात सात शहरों का तापमान 30 डिग्री से ऊपर रहा। शुक्रवार रात सबसे अधिक तापमान जोधपुर के फलौदी में 34.8 डिग्री रहा। सबसे कम तापमान राज्य के एकमात्र पर्वतीय स्थल माउंटआबू में 18.6 डिग्री रहा। माउंटआबू में तापमान 22 डिग्री से अधिक पहुंच गया था। राज्य में शुक्रवार को 47.8 डिग्री तापमान के साथ फलौदी सबसे गर्म स्थार रहा।

June 15, 2019 08:53 UTC


VIDEO: गुरुग्राम में अवैध शराब पकड़ने पहुंची पुलिस, माफियाओं ने SHO के सिर पर फोड़ी बोतल

पुलिस को गुप्त सूत्रों से खबर मिली थी की वहां कुछ लोग शराब के ठेके के पास ही अवैध रूप से शराब बेच रहे हैं. इस पर पुलिस टीम जब वहां पहुंची तो पुलिस ने शराब बेच रहे लोगों को शराब के साथ रंगे हाथ पकड़ लिया. लेकिन तभी वहां मौजूद कुछ लोग शराब की बोतलें फोड़ने लगे और पुलिस टीम के साथ मार पीट शुरू कर दी. वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि पुलिस एक लड़के को पकड़ कर पूछताछ कर रही है. गुरुग्राम में अवैध शराब बेचने वालों को पकड़ने गयी टीम पर हमला,शराब माफियाओं एसएचओ के सर पर शराब की बोतल मारी,कई पुलिसवालों की पिटाई pic.twitter.com/bzWFETD8Ty — Mukesh singh sengar (@mukeshmukeshs) June 15, 2019असम में हुए हादसों के बाद दिल्ली में जहरीली शराब की फैक्ट्री पर छापाघटना की जानकारी मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी के साथ गुरुग्राम का पूरा पुलिस बल रात में ही डीएलएफ फेज 3 थाने में इकट्ठा हो गया और इस मामले में कानूनी कार्यवाही शुरू कर दी.

Source:NDTV

June 15, 2019 08:48 UTC


नाबालिग लड़की ने पहले दर्ज कराई सामूहिक दुष्कर्म की शिकायत, कोर्ट में नहीं दिए बयान Chandigarh News

नाबालिग लड़की ने पहले दर्ज कराई सामूहिक दुष्कर्म की शिकायत, कोर्ट में नहीं दिए बयान Chandigarh Newsजागरण संवाददाता, मोहाली। नयागांव में 14 साल की 9वीं कक्षा में पढऩे वाली नाबालिग लड़की ने अपने साथ सामूहिक दुष्कर्म होने की शिकायत पुलिस को दी थी। जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। परंतु जब लड़की के 164 के बयान करवाने के लिए उसे अदालत में पेश किया गया, वहां जज के सामने बयान देने से वह मना कर गई।नयागांव थाने के एसएचओ दलवीर सिंह ने बताया कि पुलिस ने मामला कैंसिल कर दिया है। बताया जा रहा है कि लड़की ने पुलिस को दिए बयानों में यह बताया था कि 20 मार्च को जब वह खुड्डा लाहौरा के किसी स्कूल से आ रही थी, तो रास्ते में कुछ युवकों ने उसके साथ कार में सामूहिक दुष्कर्म किया। परंतु डर के कारण उसने यह बात किसी को नहीं बताई। 11 जून को नाबालिग के पेट में जब दर्द हुआ तो उसने परिजनों से इस बात का खुलासा किया। मामला नयागांव थाने पहुंचा।हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंपंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंलोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एपPosted By: Sat Paul

June 15, 2019 08:37 UTC


mumbai: मुंबई: रेल हादसे में कटा हाथ, डॉक्टरों ने सात घंटे की सर्जरी के बाद फिर जोड़ा - mumbai doctors reattach rail accident victim's arm in seven-hour surgery

मुंबई के जुहू स्थित आरएन कूपर अस्पताल के डॉक्टरों ने अहमदाबाद के एक शख्स का कटा हुआ हाथ जोड़ दिया। यह शख्स अंधेरी रेलवे स्टेशन पर ट्रैक पर गिर गया था। सात घंटे चली सर्जरी के बाद 28 वर्षीय धर्मेंद्र के हाथ को वापस जोड़ दिया गया। करीब एक महीने पहले हुई सर्जरी के बाद अब उसके हाथ में थोड़ा सुधार है।अस्पताल के प्लास्टिक सर्जन नितिन घाग ने कहा, 'यह ऑपरेशन रीप्लांटेशन सर्जरी कहलाता है। हड्डी के डॉक्टरों ने पहले हाथ को जोड़ा और उसके बाद मैंने हाथ की तंत्रिकाओं और नसों को जोड़ दिया।' उन्होंने बताया धर्मेंद्र का हाथ अगले 8-10 महीने में पहले जैसा सामान्य हो जाएगा।धर्मेंद्र 5 मई को हादसे का शिकार हुआ था और उसका हाथ पूरी तरह अलग हो गया था। उसके साथ सफर कर रहे दोस्तों ने उसके कटे हुए हाथ को प्लास्टिक बैग में रख लिया। स्थानीय पुलिस उसे पास ही स्थित कूपर अस्पताल ले गई, जहां देर रात 1 बजे ऑपरेशन शुरू हुआ और अगली सुबह 8 बजे तक चला।धर्मेंद्र के तीन बच्चे हैं और वह अपने घर का अकेला कमाने वाला सदस्य है। डॉक्टरों की इसी टीम ने मुंबई के एक निवासी के घुटनों को जोड़ा था, जो बिजली के कारण हुए हादसे में क्षतिग्रस्त हो गए थे।

June 15, 2019 08:37 UTC


Tags
Cryptocurrency      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care       VMware

Loading...