RBI data localisation: 80% players comply with norms, say sources

"The RBI will look at things on a case-to-case basis from tomorrow while handling the subject," one of the sources said, without mentioning if the central bank would take action or impose penalties for non-compliance.Digital payments platform PhonePe said it has informed the Reserve Bank of India of its full compliance with the data localisation mandate to ensure payments data of Indian users is stored within the country.The central bank's data localisation policy had elicited mixed response from the payment services industry. While some of the prominent domestic payment companies like Paytm and PhonePe have been supportive of the dictum, global players like Google (that offers Google Pay) had argued for free movement of data.Some international players have appealed for more time for compliance and also asked that they be allowed to mirror the data.Paytm, which had vociferously supported data localisation, said critical data must not be allowed to go out of the country, not even for processing. "We have complied to this mandate since day one and have welcomed this initiative right from the beginning. "Access can be provided even if the data is stored outside India. "All system providers shall ensure that the entire data relating to payment systems operated by them are stored in a system only in India," it had said.The RBI had further said that data should include the full end-to-end transaction details, information collected, carried, processed as part of the message, payment instruction.

October 15, 2018 14:40 UTC


IRCTC ने पेश किया AskDisha, यात्रियों को मिलेगा उनके हर सवाल का जवाब

IRCTC ने पेश किया AskDisha, यात्रियों को मिलेगा उनके हर सवाल का जवाबनई दिल्ली (टेक डेस्क)। IRCTC ने यात्रियों के लिए उपभोक्ता सेवा में सुधार के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित चैटबोट AskDisha पेश किया है। इस सिस्टम की मदद से रेल यात्री IRCTC की वेबसाइट से यात्रा, ट्रेन, टिकट और कैटरिंग से संबंधित जानकारियां जान पाएंगे। IRCTC ने दावा किया है कि वो देश का पहला सरकारी विभाग है जिसने ऐसा सिस्टम पेश किया है। AskDisha को IRCTC की वेबसाइट पर दायीं तरफ नीचे दिया गया है।जानें कैसे करें AskDisha का इस्तेमाल ? IRCTC की वेबसाइट पर जाकर दायीं तरफ नीचे दिए गए AskDisha के विकल्प को क्लिक करें। क्लिक करते ही एक बॉक्स ओपन होगा। इसमें यात्री अपने सवालों का जवाब हासिल कर सकते हैं। यात्रियों के लिए जो सुविधा शुरू की गई है इसके लिए स्पेशल कंप्यूटर प्रोग्राम डिजाइन किया गया है। यह प्रोग्राम यात्रियों को उनके द्वारा पूछी गई सभी जानकारी उपलब्ध कराएगा। IRCTC ने कहा है कि इसके जरिए यात्री टिकट बुकिंग से लेकर कैटरिंग तक हर सवाल का जवाब पा सकेंगे।आपको बता दें कि इस सिस्टम को क्षेत्रीय भाषाओं में भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। इस सिस्टम को जल्द ही एंड्रॉइड से जोड़ा जाएगा। इस सिस्टम से भारतीयों के अलावा विदेशियों को भी अपने सवालों के जवाब मिल सकेंगे।इससे पहले रेलवे ने एक ऐसी ऐप पेश की थी जिसके तहत रेल यात्री IRCTC Rail Connect ऐप के जरिए ई-टिकट बुक कर पाएंगे। रेलवे ने इस ऐप को अपडेट किया गया है। यह अपडेट फिलहाल एंड्रॉइड ऐप के लिए किया गया है। इस अपडेट के तहत रेल यात्री IRCTC Rail Connect ऐप के जरिए ई-टिकट बुक कर पाएंगे। इस सुविधा का लाभ केवल IRCTC ई-वॉलेट धारक ही उठा पाएंगे। IRCTC ने इस बात की जानकारी ट्वीट कर दी है।इस खबर की ज्यादा जानकारी के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।www.jagran.com/technology/tech-guide-irctc-rail-connect-app-updates-now-users-can-book-e-tickets-via-e-wallets-18436140.htmlयह भी पढ़ें:ड्यूल रियर और फ्रंट कैमरा के साथ लॉन्च होगा लेनोवो S5 Pro, Mi 8 lite से होगी टक्करवॉट्सऐप Delete for Everyone होगा अपडेट, जानें कितने समय में कर पाएंगे मैसेज डिलीटGoogle One भारत में उपलब्ध, मात्र 130 रुपये में मिल रही 130GB स्टोरेजPosted By: Shilpa Srivastava

October 15, 2018 14:37 UTC


फिर बदल सकता है मौसम का मिजाज, तीन दिन बारिश की संभावना

जेएनएन, चंडीगढ़। पंजाब के किसानों के लिए बुरी खबर है। बुधवार से फिर तीन दिन तक पंजाब में बारिश के आसार हैं और कहीं-कहीं तेज हवाएं भी चल सकती हैं। मौसम विभाग ने बुलेटिन जारी करते हुए कहा कि उत्तरी पंजाब के जिलों में तेज बारिश हो सकती है जबकि शेष पंजाब में तीन दिन तक धीमी बारिश होगी।धान उत्पादक किसानों के लिए यह खबर अच्छी नहीं है, क्योंकि इन दिनों साफ मौसम होने के बावजूद मंडियों में जो फसल आ रही है उसमें नमी 24 फीसद से ज्यादा है। ऐसे में तीन दिन यदि और बारिश हुई और शनिवार तक मौसम खराब बना रहा तो न केवल नमी की मात्र बढ़ेगी, बल्कि तेज हवाओं के साथ धान बिछने के भी आसार हैं।उत्तरी जिलों पठानकोट, गुरदासपुर, अमृतसर आदि में बासमती ज्यादा उगाई जाती है और यह लेट वरायटी होने के कारण इनकी कटाई भी देरी से होती है। ऐसे में इन्हीं जिलों में बारिश होने के कारण किसानों को दिक्कतें आ सकती हैं।उधर, खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के मंत्री भारत भूषण आशू ने कहा है कि यह खबर हमारे लिए अच्छी नहीं है लेकिन इससे निपटने के लिए विभाग ने तिरपालों आदि की पूरी व्यवस्था की हुई है। उन्होंने कहा कि जो भी फसल मंडियों में आ गई है उसे संभालना विभाग और उनकी एजेंसियों की जिम्मेदारी है।पहले ही अक्टूबर के अंत में हुई बरसात के कारण फसल को पकने में समय लग रहा है और अब इस बारिश के कारण यह दिक्कत और बढ़ने वाली है। इन दिनों मंडियों में धान की आवक अभी तेज होने ही लगी है कि मौसम के खराब होने से यह बाधित हो सकती है। बारिश के डर के चलते किसान खेतों में खड़ी फसल को काट सकते हैं जिसमें नमी की मात्रा काफी ज्यादा होगी।हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंपंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंPosted By: Kamlesh Bhatt

October 15, 2018 14:37 UTC


मीटू / लेवेंस्की बालिग थीं, क्लिंटन ने पद का गलत इस्तेमाल नहीं किया: पति के अफेयर पर हिलेरी

Dainik Bhaskar Oct 15, 2018, 08:24 PM ISTवॉशिंगटन. दुनियाभर में तेजी पकड़ रहे मीटू कैम्पेन के बीच अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने पति बिल क्लिंटन के अफेयर पर बयान दिया। उन्होंने कहा कि व्हाइट हाउस की पूर्व इंटर्न मोनिका लेवेंस्की बालिग थीं, क्लिंटन ने पद का गलत इस्तेमाल नहीं किया।2016 में डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ चुनाव लड़ने वाली हिलेरी ने कहा- राष्ट्रपति के पद से क्लिंटन के इस्तीफा ना देने का फैसला सही था। इस मामले को पद के दुरूपयोग के तौर पर नहीं देखा जा सकता। तब लेवेंस्की 22 साल की थीं और वह बालिग थीं।हिलेरी ने सीबीसी न्यूज से बातचीत में कहा कि इस पूरे मामले की जांच की गई थी और जहां तक माना जाता है यह सही थी।क्लिंटन पर अफेयर के आरोपों के बाद करीब एक महीने तक संसद ने मामले की सुनवाई की थी। उन्हें पद से हटाने की मांग की थी। इस प्रस्ताव को मंजूरी के लिए दो-तिहाई बहुमत की आवश्यकता थी, लेकिन क्लिंटन के खिलाफ पड़े वोट इससे काफी कम थे।हालांकि, न्यूयॉर्क के सीनेटर क्रिस्टन गिलीब्रांड ने कहा था कि सदन ने क्लिंटन के खिलाफ अभियोग लगाया था, ऐसे में उन्हें खुद ही राष्ट्रपति पद से इस्तीफा दे देना चाहिए था।

October 15, 2018 14:26 UTC


जामिया में खुलेआम गुंडागर्दी, छात्रों के दो गुटों के बीच हुई हिंसक झड़प, कई घायल

नई दिल्ली, जेएनएन। जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में सोमवार की शाम छात्रों के दो गुटों में जमकर मारपीट हुई। हमला कर एक गुट कैंपस स्थित मस्जिद में छिप गया तो दूसरे गुट के छात्र बदला देने के लिए वहां जमा हो गए। दो-तीन घंटे की जद्दोजहद के बाद विवि प्रशासन ने पुलिस सुरक्षा में मस्जिद में छिपे छात्रों को बाहर निकाला। पता चला कि दोनों गुट के छात्र नूंह (मेवात) और मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं और इनमें पहले से रंजिश चलती है। कैंपस के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।छात्र गुटों में हिंसक झड़पप्राप्त जानकारी के अनुसार, कैंपस में सोमवार शाम करीब पांच बजे पश्चिमी यूपी के मुजफ्फरनगर और हरियाणा के नूंह (मेवात) के छात्र गुटों में हिंसक झड़प हो गई। इसमें मुजफ्फरनगर के कुछ छात्रों को गंभीर चोटें आईं तो बदला लेने के लिए उन्होंने नूंह गुट के छात्रों को दौड़ाया। नूंह गुट के छह-सात छात्र भागकर कैंपस में ही बनी एसआरके मस्जिद में छिप गए। उन्हें बाहर निकालने के लिए मुजफ्फरनगर गुट के दर्जनों छात्र मस्जिद के बाहर जमा हो गए। वे छात्रों से बदला लेने के लिए उन्हें मस्जिद से बाहर निकालने की कोशिश कर रहे थे। इससे माहौल तनावपूर्ण हो गया।भारी संख्या में पुलिस बल तैनातविवि प्रशासन के तमाम समझाने के बावजूद छात्र वहां से नहीं हटे। शाम करीब सात बजे तक हंगामा होता रहा। मामला बढ़ता देख कैंपस के गेट नंबर आठ पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। विवि प्रशासन ने बड़ी मुश्किल से मस्जिद में छिपे छात्रों को एक कार में बैठाकर बाहर निकाला। लेकिन, गेट पर पहुंचते ही कार में बैठे छात्रों ने गुंदागर्दी दिखानी शुरू कर दी। सैकड़ों पुलिसकर्मियों के सामने ही दूसरे गुट के छात्रों को देख लेने की धमकी दी। पुलिस के सामने ही ये छात्र गाली देते हुए कार से बाहर निकले। बाद में इन सबको जामिया नगर थाने ले जाया गया।विवि प्रशासन पर लगे आरोपमौके पर मौजूद कुछ छात्रों ने विवि प्रशासन पर नूंह गुट के छात्रों की तरफदारी करने का आरोप लगाया। कहा कि यह गुट अक्सर गुंडागर्दी करता है लेकिन प्रशासन कार्रवाई नहीं करता है। छात्रों ने बताया कि इन दोनों गुटों में काफी पहले से रंजिश चल रही है। दोनों ही गुटों की तरफ से मारपीट के लिए बाहरी लड़के भी आए थे। जामिया के जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी यूपी के मुजफ्फरनगर व हरियाणा के नूंह (मेवात) के छात्रों के गुट भिड़े हैं। हालांकि उन्होंने इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की है।Posted By: Amit Mishra

October 15, 2018 14:17 UTC


इस तेज गेंदबाज से डर गए थे विराट कोहली, लगा था खत्म हो जाएगा क्रिकेट करियर

नई दिल्ली, जेएनएन। दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में शुमार भारतीय कप्तान विराट कोहली अपने करियर के शुरुआती दौर में वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज फिडेल एडवर्ड्स से काफी डर गए थे। विराट ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत वेस्टइंडीज के खिलाफ की थी। भारतीय टीम के साथ विराट चार टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए वर्ष 2011 में वेस्टइंडीज गए थे। पहले तीन टेस्ट मैच में वो पूरी तरह से फेल रहे थे और पहली चार टेस्ट पारियों में से तीन में उन्होंने फिडेल ने ही आउट किया था। पहले तीन टेस्ट में विराट ने सिर्फ 76 रन बनाए थे।वरिष्ठ खेल पत्रकार शिवेंद्र कुमार सिंह ने अपनी किताब ‘क्रिकेट के अनसुने किस्से’ में विराट की उस समय की मानसिक स्थिति के बारे में बताया है। इस किताब में लिखा गया है कि पहले दो टेस्ट की चार पारियों में तीन बार एडवर्ड्स ने उन्हें आउट किया था। इसके बात विराट ने अपने करीबी लोगों के सामने ये माना था कि उन्हें एडवर्ड्स की गेंद पिक करने में परेशानी हो रही है। वैसे इस दौरे पर विराट ने आखिरी यानी चौथे टेस्ट मैच की दोनों पारियों में 52 और 63 रन की पारी खेली थी।क्रिकेट के अनसुने किस्से में क्रिकेट से जुड़े 50 बेहद रोमांचक किस्सों का जिक्र किया गया है। इसमें मंसूर अली खान पटौदी से लेकर मौजूदा समय के क्रिकेटरों और भारत के 2006 के पाकिस्तान दौरे से जुड़े किस्से भी शामिल हैं। इनमें से कई किस्सों के गवाह लेखक खुद भी रहे हैं। विराट ने भारतीय टीम की कमान संभालने के बाद अपने बर्ताव में काफी बदलाव किए लेकिन उससे पहले वो काफी शरारती थे। किताब में उनसे जुड़ा एक किस्सा दिया गया है कि किस तरह से उन्होंने दिल्ली के एक रेस्टोरेंट में अपने नए मोबाइल के एक एप की मदद से टीवी की आवाज कम और ज्यादा करके वहां मौजूद लोगों और होटल स्टाफ को परेशानी में डाल दिया था।क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करेंPosted By: Sanjay Savern

October 15, 2018 14:15 UTC


पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र होने के कारण बन रहा मित्र नाम का शुभ योग

Dainik Bhaskar Oct 15, 2018, 07:51 PM ISTरिलिजन डेस्क. आज मंगलवार को पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र होने के कारण मित्र नाम का शुभ योग बन रहा है। ये योग शाम को 6 बजकर 20 मिनिट तक रहेगा। इसके बाद उत्तराषाढ़ा नक्षत्र से मानस नाम का एक और शुभ योग बनेगा। जो कि रात अंत तक रहेगा। वहीं सूर्य-चंद्रमा की स्थिति से बन रहा अतिगंड नाम का अशुभ योग दिन की शुरुआत में रहेगा। सुबह 07:48 के बाद सुकर्म नाम का शुभ योग पूरे दिन और रात अंत तक रहेगा। वहीं सूर्योदय सप्तमी तिथि में होगा और सुबह 10 बजकर 12 मिनिट के बाद अष्टमी रहेगी जो कि पूरे दिन और रात तक रहेगी।।आज के ग्रह-नक्षत्र

October 15, 2018 14:15 UTC


Tags
Cryptocurrency      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care

Loading...