यात्री ट्रेन ट्रैक पर टॉवर वैन से टकराई, इंजन में आग लगी; तीन लोगों की मौत

ओडिशा के रायगढ़ जिले में मंगलवार को रखरखाव वाले कोच से टकराने के बाद हावड़ा-जगदलपुर समलेश्वरी एक्सप्रेस के इंजन में आग लग गई. पूर्वी तटीय रेलवे के प्रवक्ता जे पी मिश्रा ने बताया कि यह हादसा सिंगापुर रोड और क्यूतगुदा के बीच हुआ. रखरखाव वाले कोच का इस्तेमाल विद्युतीकृत मार्गों के ओवरहेड बिजली ट्रांसमिशन उपकरणों के रखरखाव और निरीक्षण में किया जाता है. प्रवक्ता ने बताया कि रखरखाव वाले कोच से टकराने के बाद इंजन में आग लग गई और बाद में, इसे बाकी के डिब्बों से अलग कर दिया गया. मिश्रा ने बताया कि घटना की जांच कोलकाता के रेलवे सुरक्षा आयुक्त करेंगे.

Source:NDTV

June 25, 2019 16:18 UTC


जम्मू-कश्मीर / आतंकवाद से जुड़े तीन दशक पुराने मामले में पत्रकार गिरफ्तार, आधी रात पुलिस ने दबिश दी

Dainik Bhaskar Jun 25, 2019, 09:59 PM ISTश्रीनगर. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सोमवार आधी रात को पत्रकार गुलाम जिलानी कादरी (62) के घर पर दबिश देकर उन्हें गिरफ्तार किया। यह गिरफ्तारी तीन दशक पुराने आतंकी मामले से जुड़ी थी। दरअसल, कादरी कश्मीर में सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले उर्दू अखबार डेली अफाक का प्रकाशन करते हैं। उन्होंने अपने अखबार में कश्मीर में मीडिया की दिक्कतों को प्रमुखता से उठाया था।मंगलवार को कश्मीर पुलिस ने इस मामले की जानकारी मीडिया को दी। पत्रकार कादरी के भाई मोहम्मद मोरिफत कादरी ने न्यूज एजेंसी से कहा- यह शोषण है। 1993 का गिरफ्तारी वारंट आज क्यों अमल में लाया गया? केवल उन्हें ही क्यों गिरफ्तार किया गया? हालांकि कोर्ट में पेशी के बाद कादरी को जमानत मिल गई। यह मामला 1990 का है। 1993 में कादरी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ था। इसे कभी अमल में नहीं लाया गया। मामला तीन आतंकियों और अशांतिकारक गतिविधियों से जुड़ा था।हालांकि वारंट के जारी होने के बाद कादरी कई बार पुलिस स्टेशन जाते रहे हैं। 2017 में उन्होंने पासपोर्ट के लिए आवेदन भी दिया था। कादरी के भाई ने पूछा कि उन्हें रात में ही गिरफ्तार क्यों किया गया? इस पर श्रीनगर पुलिस प्रमुख हसीब मुगल ने कहा- दिन में पुलिस बिजी थी।कश्मीर यूनियन ऑफ वर्किंग जर्नलिस्ट ने गिरफ्तारी की निंदा की है। उन्होंने कहा कि यह प्रेस को दबाने की कोशिश है। उन्होंने कहा- कादरी नियमित तौर पर पुलिस स्टेशन जा रहे थे। ऐसे में आधी रात को घर से गिरफ्तारी की कोई जरूरत नहीं थी।

June 25, 2019 16:15 UTC


लोकसभा / कांग्रेस ने महिला सशक्तिकरण के दो मौके गंवाए, तीन तलाक बिल उनके लिए तीसरा मौका: मोदी

मोदी ने कहा- 1950 के दशक में समान नागरिक संहिता और उसके 35 साल बाद शाहबानो वाले मामले में कांग्रेस से चूक हुईप्रधानमंत्री ने कहा- तीन तलाक पर रोक लगाने संबंधी विधेयक हम लाए, इसे संप्रदाय मात्र से जोड़कर देखने की जरूरत नहींDainik Bhaskar Jun 25, 2019, 09:29 PM ISTनई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को तीन तलाक पर कांग्रेस से समर्थन देने को कहा। मोदी ने कहा कि कांग्रेस महिला सशक्तिकरण के दो मौके पहले ही गंवा चुकी है। तीन तलाक बिल उनके लिए तीसरा मौका है। मोदी ने यह बात बजट सत्र में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर हुई चर्चा के जवाब में कही।मोदी ने कहा कि 1950 के दशक में समान नागरिक संहिता का मौका आया था। लेकिन, तब कांग्रेस चूक गई और ‘हिन्दू कोड’ विधेयक ले आई। इसके 35 साल बाद शाहबानो वाले मामले में लैंगिक समानता सुनिश्चित करने का मौका आया था, तब भी कांग्रेस चूक गई। मोदी ने तीन तलाक विधेयक का जिक्र करते हुए कहा कि हम फिर विधेयक लाएं हैं। अब कांग्रेस के पास तीसरा मौका है, वे इसका समर्थन कर सकते हैं। इसे किसी धर्म, संप्रदाय से जोड़कर देखने की जरूरत नहीं।प्रधानमंत्री ने कहा, कांग्रेस के एक मंत्री ने टीवी इंटरव्यू में कहा है कि शाहबानाे मामले को लेकर जब चर्चा चल रही थी, तब कांग्रेस के एक मंत्री ने कहा था कि मुसलमानों के उत्थान की जिम्मेदारी कांग्रेस की नहीं है। अगर वे गटर में पड़े रहना चाहते हैं तो पड़े रहें। इस पर सदन में मौजूद कांग्रेस के नेताओं ने मंत्री का नाम पूछा। मोदी ने कहा कि यू-ट्यूूब का लिंक मिल जाएगा।पिछले हफ्ते लोकसभा में पेश हुआ बिलसरकार ने लोकसभा में पिछले हफ्ते तीन तलाक बिल पेश किया। विपक्षी पार्टियों ने इसका विरोध भी किया। संक्षिप्त चर्चा के बाद बिल पर वोटिंग हुई। इसके पक्ष में 186 सदस्यों ने मतदान किया, जबकि 74 ने इसका विरोध किया।दो बार अध्यादेश ला चुकी सरकारतीन तलाक बिल पिछली लोकसभा में पारित हो चुका था। सोलहवीं लोकसभा का कार्यकाल खत्म होने और राज्यसभा में लंबित रहने की वजह से यह अपने आप ही समाप्त हो गया। इससे पहले सितंबर 2018 और फरवरी 2019 में तीन तलाक अध्यादेश जारी किया था, क्योंकि यह राज्यसभा से पारित नहीं हो सका था।

June 25, 2019 15:33 UTC


Tags
Cryptocurrency      African Press Release      Lifestyle       Hiring       Health-care       VMware

Loading...